महिला अपराध के मामलों में सामने आई झारखण्ड में बाल मजदूरी और ओडिशा में हत्या की घटना

Posted on August 12, 2016 in Hindi, News

सिद्धार्थ भट्ट: 

पिछले 2 दिनों में देश के अलग-अलग हिस्सों में कम उम्र की लड़कियों के साथ अपराध की घटनाएं सामने आई हैं। इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार जहाँ रांची में एक सी.आइ.डी. इंस्पेक्टर के घर पर काम करने वाली एक 13 साल की नाबालिग लड़की को छुड़ाया गया। वहीं एक अन्य रिपोर्ट में ओडिशा के गंजम जिले में 18 साल की एक लड़की की माँ-बाप द्वारा तय की गयी शादी से इनकार करने पर, उसकी हत्या कर दिए जाने की खबर आयी है।

अंग्रेजी दैनिक इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार रांची में एक नाबालिग को घर के काम के लिए रखने के चलते एक सी.आइ.डी. इंस्पेक्टर उमेश ठाकुर को सस्पेण्ड कर दिया गया। उमेश ठाकुर उसकी पत्नी और परिवार के अन्य लोगों के खिलाफ 13 साल की लड़की को घर-काम के लिए रखने और उसे प्रताड़ित करने का मामला दर्ज किया गया। झारखण्ड हाई कोर्ट ने इस मामले में संज्ञान लेते हुए राज्य सरकार को उचित कारवाही करने का निर्देश देने के अतिरिक्त, पीड़ित लड़की को 25000/- रूपए का मुआवजा देने का निर्देश दिया है।

पुलिस के अनुसार यह मामला तब सामने आया जब चाइल्डलाइन और श्रम विभाग ने एक नाबालिग को घर-काम के लिए रखे जाने की सूचना मिलने के बाद 7-अगस्त को संयुक्त रूप से छापा मारा। इसके बाद छुड़ाई गई लड़की ने पुलिस को दिए उसके बयान में बताया कि अक्सर उसे ठीक से काम ना करने के लिए मारा जाता। इस लड़की और शरीर पर कई जगह गर्म धातु की चीजों से जलाए जाने की भी बात सामने आई है।

शुरुवाती जांच से यह पता चला है कि यह लड़की गुमला जिले के सिसई क्षेत्र की रहने वाली है, जिसे ठाकुर परिवार के किसी क्षेत्रीय जान-पहचान के जरिये काम पर लगाया गया था।

वहीं एक अन्य घटनाक्रम में ओडिशा के गंजम जिले के गौतमी केउता साही इलाके में 1 अगस्त की रात एक 18 साल की लड़की की उसकी माँ ने गला रेंत कर हत्या कर दी। रिपोर्ट के अनुसार संतोषी नाम की इस लड़की ने दसवीं कक्षा में फेल होने के बाद माँ-बाप द्वारा तय की गयी शादी से इनकार कर दिया था। गंजम के सब-डिवीज़नल ऑफिसर (एस.डी.पी.ओ.) अशोक मोहंती ने बताया कि संतोषी की माँ रुनु जेना के द्वारा उसकी हत्या करने के बाद उसके पिता सौरा जेना ने लाश को एक बोरी में बंद कर पास की नहर में फेंक दिया।

पुलिस ने संतोषी की लाश, 4-अगस्त को नहर से नीमाखंडी इलाके से बरामद की। पुलिस के अनसार इस वर्ष 10वीं में फेल होने के बाद उसके माता-पिता चाहते थे कि वो जल्द से जल्द शादी कर ले। बताया जा रहा है कि संतोषी ने, उसके माँ-बाप द्वारा पसंद किए गए लड़के को फोन कर किसी और से उसके प्रेम सम्बन्ध होने की बात कही जिसके बाद उस लड़के ने भी शादी से इनकार कर दिया। इस बात को लेकर हुई बहस के बाद आवेश में आकर संतोषी की माँ ने उसकी हत्या कर दी। एस.डी.पी.ओ. ने बताया कि इस मामले में केस दर्ज कर लिया गया है।

 

हर हफ्ते Youth Ki Awaaz हिंदी की बेहतरीन स्टोरीज़ अपने मेल में पाने के लिए यहां सब्सक्राइब करें।