छोटे किसानों की आमदनी कैसे बढ़ाई जा सकती है?

Posted on August 10, 2016 in Hindi, Society

 योगेश उपाध्याय:

क्या आपकी दिलचस्पी भारत की राजनीति में है? इसके लिए आपको कृषि को समझना होगा!

क्या आप चाहते हैं कि भारत एक इन्साफपसंद और बराबरी वाला देश बने? इसके लिए आपको खेती को समझना ही होगा!

क्या आप चाहते हैं कि भारत दुनिया की अगली महाशक्ती बनें? इसके लिए भी आपको कृषि को समझना ही होगा। क्या आप पर्यावरण के बारे में चिंतित हैं और देश में हर साल पीने के पानी के संकट से विचलित हो जाते हैं? जी हाँ, आप सही सोच रहे हैं, कृषि का इन सभी यानी कि पर्यावरण और पीने के पानी की उपलब्धता से गहरा सम्बन्ध है।

जब हमने छोटे स्तर पर खेती करने वाले किसानों की आमदनी पर अपने विश्लेषण (एनालिसिस) का काम शुरू किया तो हमें मालूम था कि हमारे लिए इसकी जटिलताओं को समझना बेहद जरुरी है। लेकिन कृषि किस हद तक हमारे जीवन के हर पहलू से जुडी हुई है, हम इसके लिए तैयार नहीं थे।

देश की एक तिहाई से ज्यादा आबादी कृषि पर निर्भर है, इसलिए किसानों के मुद्दे राजनीति को सबसे ज्यादा प्रभावित करते हैं, जो सही भी है। फैक्ट्रियों में बनने वाली चीजों के उपभोक्ता के रूप में भी किसान, कृषि के अलावा अन्य क्षेत्रों की अर्थव्यवस्था को बड़े पैमाने पर प्रभावित करते हैं। बदकिस्मती से कड़ी मेहनत करने के बाद भी किसानों की आबादी के इतने बड़े तबके की आमदनी बेहद कम है। और इससे भी बुरा ये, कि उनकी इस बेहद कम आमदनी पर भी काफी सारी अनिश्चितताएं और जोखिम बने रहते हैं।

तो अब सवाल ये है, कि किसानों की आमदनी कैसे बढाई जा सकती है? इसका हल है कि किसानों के पास मौजूद जमीन में फसलों की पैदावार बढ़ाने और फसलों के बेहतर दाम पाने में उनकी सहायता की जाए। यह सुनने में तो बड़ा साधारण लगता है, लेकिन जमीनी हकीकतों को देखते हुए ऐसा करना आसान नहीं है।

हमारे एनालिसिस के आधार पर, इस बात को अच्छी तरह से समझते हुए कि किसानों की स्थिति को बेहतर बनाने के अन्य तरीके भी हैं, इस स्थिति को सुधारने के लिए हमारे कुछ सुझाव हैं। हमारे एनालिसिस का मकसद किसानों की मौजूदा स्थिति पर एक चर्चा शुरू करना और इस चर्चा के लिए एक बुनियादी ढांचा उपलब्ध कराना है। हम आप सभी को आमंत्रित करना चाहेंगे कि आप इसे पढ़े और इसके नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में आपकी राय और आपके सवाल हमें भेजें, हमें बताएं कि आप हमसे सहमत हैं या नहीं। साथ ही हम आपको आमंत्रित करते हैं कि इस जानकारी को ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ साझा करें।

 

 

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.

हर हफ्ते Youth Ki Awaaz हिंदी की बेहतरीन स्टोरीज़ अपने मेल में पाने के लिए यहां सब्सक्राइब करें।