अमूल के 16 ऐसे कार्टून्स जिनमें दिखा पूरे देश का मूड

Posted on September 12, 2016 in Hindi, Society

सिद्धार्थ भट्ट:

हर दौर में अलग-अलग आर्ट ने देश के हालात को अपने-अपने तरीके से कैनवस पर उतारा है और इसमे व्यंग्य और कटाक्ष ने अपना अलग स्थान बनाया है। इसी सिलसिले में अमूल पिछले 49 सालों से  पूरे देश के मूड को लाजवाब तंज और कटाक्ष के साथ अपने कार्टून्स के ज़रिए परोसता आया है। और अब अमूल के विटी ह्यूमर्स अपना अलग स्टैणडर्ड बना चुके हैं। आइये देखें 1992 से 2016 के बीच के 16 ऐसे ही कार्टून , जिन्होंने हमें कभी गुदगुदाया तो कभी सोचने पर मजबूर किया।

1

1- 1992 में मुंबई में महिलाओं के लिए विशेष ट्रेन शुरू किए जाने के बाद आया अमूल का यह कार्टून।
2- 1995 में मुंबई के प्रसिद्ध विक्टोरिया टर्मीनस का नाम छत्रपति शिवाजी टर्मिनस किए जाने के बाद।

2

3- 1997 में भाजपा की अगुवाई में बनी गठबंधन सरकार और प्रधानमन्त्री बने अटल बिहारी बाजपेई।
4-सन 2000 में भारत की जनसंख्या जब हुई एक अरब।

9

5- 2003 में जब जानी मानी राजनीतिक हस्ती मायावती पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप।
6- 2005 में जब लागू हुआ वैट यानि कि वैल्यू एडेड टैक्स।

4

7- 2005 में मुंबई में डांस बार पर प्रतिबन्ध लगने के बाद आया ये कार्टून।
8- 2007 में यू.पी.ए. सरकार और लेफ्ट ने प्रतिभा पाटिल को बनाया राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार।

5

9- 2009 में कोल स्कैम खुलासे के बाद मधु कोडा पर लगे आरोप।
10- 2011 में जब देश के सबसे ज्यादा जनसंख्या वाले राज्य को 4 राज्यों में बांटने का प्रस्ताव रखा गया।

6

11 और 12- दिसंबर 2012 में हुए निर्भया काण्ड ने देशभर में महिलाओं की सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए।

7

13- 2013 में दिल्ली में सरकार बनाने के लिए आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस से मिलाया हाथ।
14- 2015 में जब चेन्नई में बाढ़ राहत पैकेट्स पर लगाई गयी मुख्यमंत्री जयललिता की तस्वीर।

8

15- इसी साल रिओ ओलम्पिक में साक्षी मालिक ने भारत को दिलाया पहला मैडल।
16- मार्च 2016 में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ यूनिफार्म में निक्कर की जगह शामिल हुई पतलून।

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.