मेरे विचार में गांधी

Posted by Neha Kamlesh
February 9, 2017

Self-Published

ख़ुशी तब मिलेगी जब आप जो सोचते हैं, जो कहते हैं और जो करते हैं, सामंजस्य में हों.—महात्मा गाँधी

गांधी जी एक साधारण इंसान थे। और इंसान के तौर पर कुछ कमज़ोरियाँ भी उनमें थी। पर उनके विचार उन्हें महान बनाते है। उनकी ‘सत्य के साथ मेरे प्रयोग’ एक ईमानदार कोशिश हैं। यह किताब सबसे पहले मैंने कॉलेज के समय हिंदी में पढ़ी थी। उसके बाद इसे मैंने अंग्रेज़ी में पढ़ी। आज यह दोनो ही मेरे कुछ विशेष किताबों के संकलन में शामिल है। उनका जीवन एक उदाहरण है कि किस तरह हम अपनी कमज़ोरियों को अपनी ताक़त बना सकते है। उनकी सोच बहुत व्यापक थी । उन्हें समझने के लिए हमें भी उसी व्यापकता की आवश्यकता है। उनके सोच को समय और देश की सीमायें नहीं बाँध सकती। आइंस्टाइन, मार्टिन लूथर किंग और नेलसन मंडेला उनसे पूरी तरह प्रभावित थे । गांधी का पूरे विश्व में आज भी सम्मान होता है।

उनके जाने के बाद से ही उनके नाम का उपयोग और दुरूपयोग होता रहा हैं। और यह आगे भी होता रहेगा। क्यूँकि ऐसा सभी महान आत्माओं के साथ हुआ है। कुछ स्वार्थी नेता लोगों को भटकाने का ही काम करते रहते है। और लोग उस भीड़ की तरह है जिसका कोई दिमाग़ नहीं होता। जिसका कोई चेहरा नहीं होता और जिसे चाहो जहाँ मोड़ सकते हो। यह भीड़ कभी पढ़ने या सोचने में यक़ीन नहीं करतीं। यह कुछ करना भी नहीं चाहतीं। यह तो बस नतीजा चाहतीं है। कोई आए और इनकी सारी मुसीबतें दूर कर दे।

चाहे गांधी जी हो या कोई और विचारक, सभी ने एक ही बात अलग-अलग तरीक़े से समझाने की कोशिश की। कभी भीड़ मत बनो। ख़ुद सोचो। ख़ुद विचारों। ख़ुद सच को ढूँढो। ख़ुद राश्ते बनाओ। और इसके लिए पढ़ने की ज़रूरत है। सच को जानने की ज़रूरत हैं। बापू का पूरा जीवन एक दर्शन की तरह हैं। तब भी मेरा यही विचार है कि किसी व्यक्ति से नहि बल्कि उसके विचारो से प्रभावित होना सीखो। उनके विचारों को अपनाओ और ख़ुद अपने राश्ते बनाओ। सत्य और अहिंसा का जो राश्ता बापू ने दिखाया है वह कालजयी है। बापू का जीवन हमें उन आदर्शो की ओर ले जाता है जिसे पाना तो हम चाहते है पर उसके लिए जो प्रयत्न आवश्यक है उसे किए बिना।

और प्रयत्न ना करने की कायरता को मजबूरी का नाम दे देना आसान हो जाता हैं। आज ज़रूरत है थोड़ा रुकने की, थोड़ा सोचने की और प्रत्येक कार्य को करने से पहले उसके विश्लेषण की।

मुझे उम्मीद है अभी भी कुछ लोग है जो भीड़ का हिस्सा नहीं हैं। और मुझे यक़ीन है यही ‘कुछ’ दुनिया बदलने की ताक़त रखते है। और फिर कई नए गांधी और उनके विचार इस दुनिया को नयी राह दिखाएँगे।

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.