हुनर की ताकत से सशक्त होंगी महिलाएं

Posted by Ramkumar Vidyarthi
March 9, 2017

Self-Published

भोपाल- बस्तियों में सिलाई, ब्यूटीपार्लर जैसे स्वरोजगार कर रही असंगठित महिलाओं को बेहतर कौशल प्रशिक्षण सर्टीफिकेशन व मार्केट में स्थान मिले ताकि वे अपने हुनर को मजबूत कर आगे ब़ढ सकें। यह अपेक्षा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर एक्सटॉल कॉलेज जहांगीराबाद में आयोजित असंगठित महिला उद्यमी सम्मेलन में सहभागी महिलाओं ने जताई।

इस मौके पर अतिथि वक्ता नगर निगम भोपाल की अपर आयुक्त श्रीमति मलिका निगम नागर ने कहा कि महिलाएं हुनर की ताकत से ही सशक्त होंगी। उन्होने इस दिशा में नगर निगम द्वारा किये गये प्रयासों की जानकारी भी प्रदान की। उक्त आयोजन संस्था निवसीड बचपन एक आवाज व उमड़ते सौ करोड़ अभियान से जुड़ी संस्थाओं द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। कार्यक्रम में इश्वर नगर महिला समूह द्वारा लोकगीतों की शानदार प्रस्तुति दी गई।

महिला अधिकारों की प्रख्यात कार्यकर्ता और वरिष्ठ अधिवक्ता साधना पाठक ने महिलाओं से जुडे कानूनी प्रावधानों व अधिकारों की जानकारी प्रदान की। एक्सटॉल इंस्टीट्यूट की डायरेक्टर श्रीमति शीला भटनागर ने अपने जीवन के प्रेरणादायक अनुभवों से आने वाली सीखें बताते हुये महिलाओं के आर्थिक सशक्तीकरण पर जोर दिया। उन्होंने बस्तियों के पास परिवार काउंसलिंग सेल एवं महिलाओं के लिए शहर भर में शी लाउन्ज खोले जाने की मांग उठाई |

सम्मेलन में भाग ले रही महिलाओं ने भी अपने स्वावलंबन की कहानियां प्रस्तुत की एवं बस्ती स्तर पर महिलाओं के लिये कौशल प्रशिक्षण केंद्र खोले जाने की आवश्यकता बताई |

उमड़ते सौ करोड़ अभियान के तहत लघु स्वरोजगार से जुड़े असंगठित महिलाओं के इस सम्मेलन में नगर निगम उपायुक्त मलिका निगम व शिक्षाविद शीला भटनागर व एडवोकेट साधना पाठक ने अपनी बात रखी। बालिका सुरक्षा की थीम पर प्रतीति जेण्डर फेलो और आवाज के युवाओं ने नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत किया। साथ ही स्थानीय महिला एवं किशोरी समूह ने क्षेत्रीय लोकगीतों की प्रस्तुति दी।

आयोजन में विशेष सहयोग रामकुमार विद्यार्थी ऋतु रूसिया निधि जोशी सत्येन्द्र पाण्डे सरस्वती राखी तरन्नुम मंजू ममता एवं एक्सटॉल इंस्टीट्यूट का रहा।

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.