जिम्मेदार​ कौन ??

Posted by Ashwani Kumar
April 25, 2017

Self-Published

जन, जंगल, ज़मीन, नदी और पहाड़ों से वहां के लोगों को बेदखल कर जब तक पूंजीपतियों को वहां की संपदा विकास के नाम पर सौंपते रहोगे तब तक नक्सली हिंसा बंद नहीं होगी। सरकार आती – जाती रहती है । लेकिन जमीनी हकीकत को सबने नजरअंदाज किया। एक मुख्यमंत्री ने तो सलवा जुडूम ही तैयार कर दिया था। हमारे सुरक्षा बलों की शहादत किसी भी सरकार पर कोई असर नहीं डालती। कुछ दिनों तक उनकी शहादत पर भाषणबाजी, कुछ गिरफ्तार, कुछ विशेष दस्ते का गठन। शहीदों के परिजनों को बस चंंद अनुदान।
बस । इतना ही। तब तक देश में मीडिया का कैमरा कहीं और घूम चुका होगा। शहीदों के परिजन आजीवन बिलखते रहेंगे। नक्सली भी अपने घर वालों के जख्मों की टीस थोड़ी कम करने के लिए फिर से नयी रणनीति में जुट जाएंगे। नेताओं और पूंजीपतियों का खेल चलता रहेगा। सत्ता बदलती रहे, इस खेल में कोई अंतर नहीं पड़ता।

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.