राजस्थान की शेरनी शराब आंदोलन की अगुवाकार नाम हैं पूजा भारती छाबड़ा

Posted by Dev Sharma
April 26, 2017

Self-Published

भारत देश वीरांगनाओ का देश हैं लाखों महिलाओ ने अपने काम से देश का माथा ऊँचा किया हैं आज हम बात कर रहे हैं निडर निर्भीक महिला जिन्हें कुछ लोग राजस्थान की बेटी कहते हैं तो कोई राजस्थान की शेरनी और वो हैं शराबबन्दी के लिए अपनी जान देने वाले शहीद गुरुशरण जी की पुत्रवधू पूजा छाबड़ा जी , एक दम सौम्य सीधी सी लगने वाली ये महिला जब शराब बंदी के समर्थन में और शराब की दुकानों ठेके के विरोध में सड़क पर उतरती हैं तो शराब माफियाओं के साथ साथ सरकार भी बंगले झांकने लगती हैं अपने पूज्यनीय ससुर जी को अपना आदर्श मानने वाली पूजा छाबड़ा कहती हैं राजस्थान में शराब बंदी हमारा लक्ष्य हैं जिसे हम कैसे भी लागू कर के रहेंगे, राजस्थान में करीब 3000 छोटी बड़ी सभा कर चुकी पूजा छाबड़ा आज जनता में चर्चा का विषय बनती जा रही हैं कई लोग आम जनता और खास कर महिलाएं कहने लगी हैं कि राज्य को पूजा छाबड़ा जैसे नेतृत्व की जरूरत हैं राजनीती में आने के विषय पर पूछे सवाल पर पूजा छाबड़ा हँसते हुए कहते हैं कि मैंने तो अपना जीवन ही शराबबन्दी लोकायुक्त व आम जन मानस की समस्याओ के लिए सौप दिया हैं अब ये राजस्थान की सम्मानित जनता को तय करना हैं कि मुझे क्या करना चाहिए,

पूजा छाबड़ा ने एक संगठन भी बनाया हैं जन क्रांति मंच के नाम से जिसमे आज राजस्थान के लाखों युवा महिला जुड़ कर पूरे राज्य में शराब बन्दी की मांग का रहे हैं संगठन के राष्ट्रीय महासचिव देव शर्मा जो खुद विकलांग संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और दिल्ली से आकर पूजा छाबड़ा जी के इस कार्य में सहयोग कर रहे हैं वो कहते हैं कि इस शराब बंदी के आंदोलन को अभी और तेज किया जायेगा और बहन पूजा छाबड़ा के नेतृत्व में पूरे राजस्थान में क्रांति लाई जाएगी 

पूजा छाबड़ा जिस तरह से रातदिन एक करके इस अभियान के पचार प्रसार के लिए लगी हैं तो वो दिन दूर नही जब राजस्थान पूर्ण शराब मुक्त होगा

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.