BHU से निलंबित एक छात्र का केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को पत्र

माननीय प्रकाश जावड़ेकर जी,
मानव संसाधन विकास मंत्री,
भारत सरकार

महोदय,

आपकी सरकार द्वारा BHU में नियुक्त दोयम दर्जे के अधपढ़े कुलपति ने पूरे कैम्पस में पिछले ढाई सालों से तांडव मचाकर रखा है, कैम्पस में आपकी सरकार और RSS से भिन्न राजनीतिक विचारधारा रखने वाले छात्र-छात्राओं, शिक्षकों व कर्मचारियो का बदस्तूर उत्पीड़न जारी है। परिसर में दोयम दर्जे की हो रही नियुक्तियों के साथ साथ, जायज़ सवालों को उठाने वाले छात्रों व विभिन्न छात्र संगठनों के सदस्यों (Nsui, Aisa, Bcm, Scs) पर फर्जी मुकदमे लादकर उन्हें फसाने की कोशिश जारी है। लाइब्रेरी खोलने जैसे जायज़ सवाल पर छात्रों का दो साल के लिए निलम्बन कर दिया जाता है।

BHU के संदर्भ में संसद के दोनों सदनों में लाइब्रेरी आंदोलन से जुड़े छात्रों के अवैधानिक रूप से हुये निलम्बन, फर्जी आपराधिक मुकदमे में फंसाकर उत्पीड़न, और छात्राओं के साथ भेदभावकारी नियम से सम्बंधित मामले कई बार माननीय संसद सदस्यों अनवर अली अंसारी, शरद यादव, तपन सेन, आनन्द शर्मा, जया बच्चन (राज्य सभा) राजीव सातव(लोकसभा) द्वारा उठाये गये।

राज्यसभा में सरकार की तरफ से संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी द्वारा उक्त मामले को छोटा बताते हुए पल्ला झाड़ लिया गया, सभापति महोदय के आदेश के बावजूद आपके द्वारा कोई कार्यवाही उक्त मामलों में नही की गयी।

अभी हाल ही में लोकसभा में इसी मामले में लोकसभा के सदस्य राजीव सातव के सवालों का जवाब देते हुए आपने BHU में छात्राओं के साथ किसी भी प्रकार के भेदभाव से इनकार किया। परन्तु जब संसद में आप इन सवालों से मुखातिब होकर इंकार रहे थे ठीक उसी समय BHU में ABVP (जी हां वही ABVP जिसके आप छात्र जीवन में सदस्य हुआ करते थे) से जुड़े छात्रों का एक समूह अपनी कुछ मांगों को लेकर BHU में धरनारत था, जिनकी एक मांग छात्राओं के साथ हो रहे भेदभाव और अवैधानिक तरीके से निलंबित किये गए छात्रों के निलम्बन वापसी की भी थी।

महोदय, आपके विचारधारा से अलग राय रखने वाले छात्रों व छात्र संगठनों की मांगों को आपने लगातार अनसुना व इनकार ही नहीं किया है बल्कि आधारहीन भी कहा है। आपकी सरकार द्वारा उनका बर्बरतापूर्वक दमन करने की भी कोशिश की गयी है। परन्तु यही सवाल अब कैम्पस में ABVP ने भी उठाया है अब सवाल उठता है कि आखिर में झूठा कौन? ABVP अर्थात आपका अतीत? कुलपति व BHU प्रशासन? या प्रकाश जावड़ेकर?

आपसे जवाब की अपेक्षा में आपका राजनीतिक विरोधी, निलंबित छात्र

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.

हर हफ्ते Youth Ki Awaaz हिंदी की बेहतरीन स्टोरीज़ अपने मेल में पाने के लिए यहां सब्सक्राइब करें।