सुभाषिनी अली: चंद्रशेखर के खिलाफ एन.एस.ए बहुत ही अनुचित होगा

Posted by Khalid Anis Ansari
May 13, 2017

Self-Published

पिछले हफ्ते सहारनपुर में कई चिंन्ताजनक घटनाए घटी हैं. इनके बारे में ठंडे दिमाग से सोचने की आवश्यकता है.  दो ऐसे जुलूस निकाले गए जिनकी कोई अनुमति नही थी – एक का नेतृत्व भाजपा के सांसद कर रहे थे और दूसरे महाराणा प्रताप की याद में कुछ राजपूतों ने निकाला.  दोनों जुलूसों के दौरान आपत्तिजनक नारे लगे और पहले में शामिल लोगों ने अल्पसंख्यकों को निशाना बनाकर उनकी दुकाने इत्यादि जलाए और दूसरे में भाग लेने  वालों ने ऐसा दलितों के साथ किया.  दोनों ही जुलूसों के नेताओं के खिलाफ कोई कारवाही नही हुई है जबकि पहले जुलूस में शामिल लोगों ने सत्तापक्ष के सांसद के साथ उस समय के वरिष्ट पुलिस अधीक्षक के घर पर भी धावा बोला था.  लुटने वालों और घायल लोगों को किसी प्रकार की सहायता नहीं मिली है. जिस  लड़के की दुर्भाग्यपूर्ण मौत  दूसरी घटना के दौरान हुई उसकी पोस्ट मार्टम की रिपोर्ट में ‘सांस रुकने’ से मौत होने की बात कही गई है और उसके परिवार को १० लाख रूपये का मुआवजा भी सरकार की तरफ से घोषित कर दिया गया है.

मंगल्वार के दिन, प्रभावित दलितों ने मुआवज़े और न्याय की मांग को लेकर महापंचायत करने का फैसला किया लेकिन प्रशासन ने इसकी अनुमति नही दी. फिर भी दलित गाँधी मैदान में इकठ्ठा हुए और अपनी सभा शांतिपूर्ण तरीके से करने लगे.  इस पर लाठी चार्ज कर दिया गया.  उसके बाद आगज़नी और पुलिस से झड़प भी हुई लेकिन किसी समुदाय या किसी समूह या उनके घरो पर किसी प्रकार का हमला नहीं क्या गया.

अब इस बात की चर्चा है कि राज्य सरकार भीम सेना के नेता, चंद्रशेखर, के खिलाफ एन एस ए लगाने की तैयारी कर रही होगी.  यह बहुत ही अनुचित, अन्यायपूर्ण और दुर्भाग्यपूर्ण होगा.

सरकार से मेरी अपील है कि शान्ति पुनर्स्थापित करने के लिए माहौल बनाना का प्रयास उसे करना चाहिए.  इसके लिए उन लोगों के खिलाफ कार्यवाही करनी होगी जिन्होंने हिंसा और उत्पात मचाने के कामो की शुरुआत की है.  साथ ही, मुआवज़े और चुटहिल लोगों के इलाज का भी इंतज़ाम होना चाहिए.

सुभाषिनी अली, पूर्व सांसद, पोलिटब्यूरो सदस्य, सी पी आई (एम्) का सहारनपुर घटना पर स्टेटमेंट

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.