ट्विटर पर बताई गलती तो क्यूं भड़क गए मंत्री जी?

Posted by Suraz Ibrahimovic in Hindi
May 19, 2017

आज देश के खेल मंत्री श्री विजय गोयल जी ने ट्विटर पर मुझे ब्लॉक कर दिया। ब्लॉक करने से पहले उन्होंने मेरा एक ट्वीट कोट करते हुए मुझे डायरेक्ट मैसेज किया, ‘सस्ता और बुरे स्वाद वाला, Cheap & In Poor Taste’. मैंने जवाब दिया तो उन्होंने मेरा मोबाइल नंबर मांगा। मैंने सप्रेम अपना नंबर दे दिया। फिर उनका अगला मैसेज आया, ‘तुम्हारी टिप्पणियां ना सिर्फ घटिया हैं बल्कि अपमानजनक/बेरहम/क्रूर/उपद्रवी/घोर/सख्त हैं। मूल शब्द यह थे, Your comments are not only cheap but outrageous.’

गोयल जी मेरे जिस ट्वीट पर भड़के थे उसमें बस एक लाइन लिखी थी जो कि उन्हीं का बयान था, ‘Indian Players Will Give Their Breasts’ पहली बार किसी को अपना ही बयान पढ़कर इतना शर्मिंदा होते देखा है। गोयल साब ने यह बयान फुटबॉल के स्पैनिश लेजेंडरी डिफेंडर Carles Puyol की मौजूदगी में दिया था और पुयोल भी इस पर अपनी हंसी नहीं रोक पाए थे।

एक जाने-माने खेल संवाददाता ने यही बयान ट्वीट किया था। हालांकि सर ने जानें क्यों बाद में अपना ट्वीट डिलीट मार दिया (स्क्रीनशॉट है) श्री गोयल जी की इस स्पीच में एक यही नहीं बल्कि बहुत सारी गलतियां थीं। कुछ हफ्तों पहले ही फिक्स हो गया था कि पुयोल आएंगे फिर भी पुयोल के बारे में मंत्री जी उनके सामने ही गलत फैक्ट बोले जा रहे थे। आंद्रेस इनिएस्ता का नाम नहीं ले पाए सर। बाकी भी गलतियां थीं।

सिर्फ एक गलती को लिखा तो भड़के मंत्री जी ने ब्लॉक कर दिया। फोन नंबर लिए हैं तो शायद फ्री होकर कभी कॉल भी करें। करेंगे तो कोशिश करूंगा कि एक एक्सक्लूसिव इंटरव्यू ले लूं क्योंकि मेरा तो काम ही यही है। वैसे मंत्रीजी अगर मैंने गलत लिखा था तो उस पर बात होती। फैक्ट लिखने पर इनबॉक्स में आकर धमकाकर, ब्लॉक करने वाला खेल तो हम 2011 में खेलते थे। इतने बड़े हो गए हैं ये बच्चों वाली हरकत की उम्मीद नहीं थी आपसे।

मैं अभी भी अपनी बात पर कायम हूं कि आपने ब्लंडर्स किए थे, उस स्पीच में। मेरा काम ही लोगों को बताना है कि उनके प्यारे खेलों के मंत्री और बाकी अधिकारी उस खेल की भलाई के लिए क्या कर रहे हैं। आप ब्लॉक करें या मेरा अकाउंट सस्पेंड करा दें मैं अपना काम करता रहूंगा।

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.

हर हफ्ते Youth Ki Awaaz हिंदी की बेहतरीन स्टोरीज़ अपने मेल में पाने के लिए यहां सब्सक्राइब करें।

Comments are closed.