हिन्दवासियो के नाम एक बिहारी का प्रार्थना भरा पैगाम

Posted by Saurabh Kr Singh
June 7, 2017

Self-Published

हाँ मै हूँ बिहारी और मुझे गर्व है इस बात का मेरा सम्बन्ध वहाँ से जहाँ से चाणक्य और आर्यभट्ट जैसे ज्ञानियो का वास्ता है।

मेरा युथ की आवाज पर ये पहला लेख है पहली बार लिख रहा हूँ क्योकि मुझे लगा की अब पानी सर से ऊपर तब जा कर ये लेख यहाँ लिख पा रहा हूँ।मेरा ये लेख 2017 की 12वी टॉपर से सम्बंधित है ।

लोग से सुनने में आता है की बिहार बोर्ड से टॉप किया हुआ लड़का गाने नहीं गा सका ।मामला कुछ ऐसा है की कोई छात्र जिसने टॉप किया है और संगीत विषय में उसके काफी अच्छे नंबर है तो मीडिया उनसे उनका साक्षात्कार लेने पहुचती है और उन्हें कहती है की आप गाना गा कर दिखाओ जबकि हम सभी जानते है की किसी भी बोर्ड किसी भी विश्वविद्यालय में छात्र संगीत का विषय केवल जयादा अंको की भावना से लेते है कुछेक को छोड़ कर लड़का गाना नहीं गाता है और इसी को ब्रेकिंग न्यूज़ बना दिया जाता है जबकि और किसी बोर्ड के टॉपर से ऐसा कोई भी सवाल कभी नहीं पूछा जाता है ।

हम जानना चाहते है की आखिर ऐसा क्यों होता है हमेशा ही मीडया हम से इस तरह के सवाल क्यों पूछती है – क्या इसलिए क्योकि हम उस प्रदेश से है जिसका साक्षरता दर काफी कम है या इस लिए क्योकि हम गरीब है !इन सब बातो से अलग ये भी जान लीजिये की हम उस प्रदेश से है जहा के बच्चे सबसे ज्यादा होते है आई आई टी में ,हम उस प्रदेश से है जहा सबसे ज्यादा आईपीएस बनाये जाते।इन सब से अलग ये भी जान लीजिये की हम उस प्रदेश से है जिसने देश को ही नहीं अपितु सम्पूर्ण विश्व को आर्यभट्ट,चाणक्य और ना जाने ऐसे ही कितने नाम है जिन्हें समर्पित किया है फिर भी ना जाने क्यों हमे हर जगह ट्रोल किया जाता है,हुमे गवार कहा जाता है ।

हम सब सुनते है मन ये विश्वास ले कर की एक दिन फिर से लोग हमें समझेंगे और हमारी शायद इस दुनिया में कोई अहमियत होगी।

मेरा यह पत्र पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद ! यदि मेरी बातो आपको अच्छी या ख़राब लगी हो तो मेल करना ना भूलियेगा – [email protected]

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.