जी हां, पीरियड्स में भी सेक्स कर सकते हैं, डाउट मत रखना

Posted by Lipi Mehta in Culture-Vulture, Hindi, Sex, Sexual Health
June 9, 2017

मानव समाज में दो सबसे प्राकृतिक क्रिया- सेक्स और मेंस्ट्रूएशन। मानव समाज में दो क्रियाएं जिसके बारे में सबसे ज़्यादा मिथक हैं और सबसे कम बातें की गईं हैं- सेक्स और मेंस्ट्रुएशन। चलिए अगर मानव समाज शब्द के इस्तेमाल पर आपको आपत्ती हो तो कम से कम भारत में तो ऐसा है ही। इन टैबूज़ को सोचने भर से लोगों के अजीब अजीब शक्लों वाले रिएक्शन सामने आते हैं।

छी छी ये कितना गंदा है… उफ्फ्फ घिन आती है सोच के ही… ऐसा नहीं होता, ये पॉसिबल नहीं है… ये वो बाते हैं जो मैंने पीरियड्स में सेक्स को लेकर सुनी हैं।

via GIPHY

लेकिन ज़रा सच जान लीजिए। तो सच ये है कि पीरियड्स में सेक्स करना बहुत ही नॉर्मल है, ये पॉसिबल भी है और पीरियड्स में सेक्स करने से आपको कोई बीमारी भी नहीं होगी। सनद रहे कि जब जब हम पीरियड्स में सेक्स को गंदा या घिन बढ़ाने वाला कहते हैं तब तब हम इस बात का प्रमाण दे रहे होते हैं कि हमारे देश में सेक्स और मेंस्ट्रुएशन दोनो ऐसे मुद्दे हैं जिसे सिर्फ घिनौना और शर्मसार करने वाला माना गया है। और इन मुद्दों पर बातों के नाम पर सिर्फ चुप्पियां ही हैं।

तो सवाल है कि पीरियड्स के दौरान सेक्स कैसे करते हैं। जवाब है- जैसे बिना पीरियड्स में करते हैं। और अगर आप उनमें से हैं जिसे पीरियड्स के दौरान काफी ज़्यादा क्रैंप्स आते हैं तो ये रिसर्च आपके लिए ही है जिसमें ये साबित किया गया है कि ऑर्गैज़्म के दौरान शरीर में ऑक्सीटोसीन, डोपामीन और एंडोर्फिन ग्रुप के अन्य हॉर्मोन एक्टिव हो जाते हैं जो आपके दर्द को कम करता है या कम से कम अच्छा तो ज़रूर महसूस करवाता है। और हां ये बिल्कुल भी घिनौना नहीं होता। बस खून ही तो है, जिसे आराम से धोया जा सकता है, सफेद बेडशीट से भी। हां कुछ पोज़िशन्स ज़रूर ऐसे हैं जो पीरियड्स में सेक्स को आसान बनाते हैं।

2012 की एक रिपोर्ट में  ये भी साबित किया गया है कि उत्तेजना के उस क्षण में, संभोग की कामना घिन की भावना पर हावी होती है। इसका मतलब ये कि आपको ऐसे मौकों पर पीरियड्स सेक्स जैसी कोई भावना ही नहीं आएगी। एक और अच्छी बात बताऊं? खून एक प्राकृतिक ल्यूबरिकेन्ट का काम करता है और इससे पूरी क्रिया ज़्यादा स्मूद और आनंददायक बन जाती है।

लेकिन क्या इसका ये मतलब है कि पीरियड्स में आप बिना किसी सुरक्षा के सेक्स कर सकती हैं? आप बिल्कुल कर सकती हैं, लेकिन अहतियातन आपको गर्भनिरोधक का इस्तेमाल ज़रूर करना चाहिए। स्पर्म 2-5 दिनों तक वैजाइना में सक्रिय रह सकता है। अगर आपका पीरियड सायकल छोटा है(28 दिन से कम) तो आपके अंडाशय(ovary) से अंडो का उत्सर्जन शुरु हो सकता है और आपके गर्भवती होने का रिस्क बना रह सकता है। और हां पीरियड्स के दौरान महिलाओं का Cervix (गर्भाशय ग्रीवा) खुल जाता है और इससे इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है। तो सेक्स से होने वाले संक्रामक बीमारियों से बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि काँडम का इस्तेमाल किया जाए। और ये बाद पुरुषों और महिलाओं दोनों पर बराबर लागू होती है।

अंत में इस सवाल का जवाब कि क्या आपको पीरियड्स में सेक्स करना चाहिए? तो जवाब ये है कि ये पूरी तरह से आपकी मर्ज़ी है। अगर आपका मन हो तो बिल्कुल करें और अगर मन ना हो तो ना करें। बस ध्यान रहे कि कोई आपसे खुशामद करके या दवाब बनाकर सेक्स करना चाहे तो उसका जवाब बस ना है। और हां इस बात को मन से निकाल दें कि आपका पार्टनर पीरियड्स के दौरान आपसे सेक्स करके कोई एहसान कर रहा है। पूरी की पूरी सेक्स क्रिया आपसी सहमती और मंज़ूरी पर आधारित है।

तो सार ये है कि कुछ नया करने से बिलकुल ना हिचकिचाएं, हो सकता है कि ये आपके लिए सबसे खूबसूरत एहसास हो। वो अंग्रेज़ी में कहते हैं ना ब्लडी ब्यूटीफुल।

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.

हर हफ्ते Youth Ki Awaaz हिंदी की बेहतरीन स्टोरीज़ अपने मेल में पाने के लिए यहां सब्सक्राइब करें।

Comments are closed.