आइये, लाइफ इंश्योरेंस का हर कन्फ्यूज़न दूर करें

Posted by Harjot Singh Narula in Hindi
June 23, 2017

जीवन अनमोल है। हमारे जीवन में किसी भी ऊंच-नीच का सबसे बड़ा प्रभाव हमारे परिवार पर पड़ता है। किसी की अकस्मात मृत्यु से परिवार को जो भावनात्मक नुकसान होता है, उसकी भरपाई तो वक्त के साथ ही होती है, लेकिन कई बार आर्थिक नुकसान भी काफी आहत करने वाला होता है।

जीवन बीमा एक ऐसी सुरक्षा का प्रावधान है, जो बीमा धारक की मृत्यु पर बीमा रकम उसके परिवार को अदा करवाता है। अक्सर लोग जीवन बीमा को केवल एक किस्म का खर्च समझ कर टाल देते हैं या केवल टैक्स बचाने का एक साधन समझकर खरीदते हैं।

आइये जानते हैं जीवन बीमा की ABCD, विस्तार में

2. जीवन बीमा क्या है ?

जीवन बीमा एक ऐसा लिखित कानूनी करार है जिससे बीमा कंपनी- बीमाधारी की मृत्यु, दुर्घटना, अथवा अन्य बीमित घटना पर, पहले से तय किये गए एक रकम देने का वादा करती है। बीमा धारक के नियुक्त उम्मीदवार को मृत्यु उपरांत यह बीमा राशि प्रदान की जाती है। जीवन बीमा पाने के लिए बीमा करवाने वाले को एक निश्चित समय के दौरान प्रीमियम रकम अपनी बीमा कंपनी को नियमित रूप से जमा करनी पड़ती है, जिससे बीमा धारक की पॉलिसी सक्रिय रहती है और उसके अन्तर्गत सारे लाभ भी।

2. जीवन बीमा क्यों आवश्यक है ?

जीवन बीमा एक ऐसी आर्थिक व्यवस्था है जिससे आप सर्वप्रथम अपने परिवार को एक आर्थिक सुरक्षा प्रदान करते हैं।आपकी दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु या दुर्घटना की सूरत में आपके परिवार को निर्धारित राशिफल से अपनी मौजूदा आर्थिक समस्याओ से जूझने का बल प्रदान होता है। इसके साथ ही भविष्य में पैदा हुई या निर्धारित आर्थिक स्थितियों का सामना करने की मज़बूती भी मिलती है। जीवन बीमा से आप अपने परिवार को आर्थिक स्वतन्त्रा और सुरक्षा प्रदान करते हैं।

जीवन बीमा अन्य निर्धारित कार्यों की पूर्ति के लिए भी आवश्यक है। जीवन बीमा के प्रति नियमित प्रीमियम से जमा हुआ राशिफल समृद्धि में भी प्रोत्साहन लाता है। जीवन बीमा दीर्घकालिक बचत प्रदान करता है। अगर बीमित की मृत्यु, पॉलिसी अवधी में नहीं होती तो पॉलिसी परिपक्वता पर बीमित या बीमा धारक को बीमा राशि प्रदान की जाती है।

3. जीवन बीमा पॉलिसी के अन्तर्गत क्या लाभ होते हैं?

1. बीमित की मृत्यु यदि परिपक्वता की तिथि से पहले हो जाती है तो उसके परिवार को बीमा राशिफल प्रदान करवाया जाता है बशर्ते पॉलिसी प्रीमियम के भुगतान द्वारा पूर्ण रूप से चालू हो।

2. यदि बीमित परिपक्वता की लिखित तिथि तक जीवित रहता है, बीमा कंपनी बीमित को पॉलिसी के अन्तर्गत निर्धारित बीमा धन प्रदान करती है।

3. आयकर के उपयोग का भी जीवन बीमा उपयुक्त उपाय है। जीवन बीमा के प्रति दिए गए प्रीमियम राशिफल पर कर छूट सेक्शन 80 सी के अन्तर्गत आयकर अधिनियम, 1961 में दी जाती है ।

4. अपनी जीवन बीमा पॉलिसी के प्रति आप लोन भी ले सकते हैं।

5. जीवन बीमा पॉलिसी के अन्तर्गत आप बोनस के अधिकारी भी हो सकते हैं। बीमा कंपनी आपकी बीमा पॉलिसी पर बोनस राशि भी पर्याप्त कराती है जिससे आपकी राशि फल में बढ़ोतरी होती है।

( नोट: जीवन बीमा पॉलिसी के लाभ पॉलिसी प्रकार के अनुरूप होते है )

4. जीवन बीमा के क्या प्रकार होते हैं ?

1. टर्म बीमा पॉलिसी : इस बीमा पॉलिसी की नियमित बीमा राशि केवल बीमाधारक की मृत्यु पर ही दी जाती है।परिपक्वता तक यदि बीमित की अकस्मात् मृत्यु नहीं होती तो इस प्रकार की पॉलिसी के अन्तर्गत कोई लाभ नहीं प्राप्त होता। इस प्रकार की पॉलिसी की प्रीमियम राशि बाकी जीवन बीमा पॉलिसी से बहुत कम होती है। टर्म बीमा एक सही मायने में जीवन सुरक्षा का सर्वोपरि उद्धारहण है।

2. एंडोमेंट बीमा पॉलिसी : इस पॉलिसी के अन्तर्गत बीमित के बीमा अवधि के दौरान मृत्यु या बीमा अवधी की परिपक्वता उपरान्त निर्धारित बीमा राशि पर्याप्त कराई जाती है।

3. आजीवन बीमा पॉलिसी : इस प्रकार की बीमा पॉलिसी में बीमित आजीवन सुरक्षित रहता है। इस पॉलिसी प्रकार  में भी बीमा धारक की मृत्यु या परिपक्वता पर जीवन बीमा राशि बीमा कंपनी प्रदान कराती है ।

4. यूनिट लिंक्ड बीमा पॉलिसी : इस पॉलिसी में बीमा धारक अपनी प्रीमियम राशि का निवेश खुद करता है। प्रीमियम राशि से कंपनी बीमा धारक को यूनिट्स प्रदान करती है। बीमा धारक अपनी झोखिम क्षमता अनुसार विभिन्न प्रकार के फंड्स में निवेश करता है। परिपक्वता पर बीमा धारक को फण्ड राशि मिलती है और उसकी अकस्मात् मृत्यु पॉलिसी अवधि के दौरान निर्धारित बीमा राशि उसके नियुक्त उम्मीदवार को दी जाती है।

5. चाइल्ड बीमा पॉलिसी : यह पॉलिसी बच्चों के भविष्य के लिए फायदेमंद होती है। प्रीमियम राशि जमा करके बीमा धारक एक पर्याप्त रकम संचय करता है।

निष्कर्ष :

जीवन बीमा एक ज़रूरी आर्थिक प्रावधान है। व्यक्ति को अपनी आय से 10 या 12 टाइम्स बीमा राशि खरीदनी चाहिए जिससे आप अपने परिवार को एक पर्याप्त मात्रा में आर्थिक सुरक्षा प्रदान कराते हैं। अपने बजट और ज़रूरत के आधीन जीवन बीमा ज़रूर खरीदे। आज कल की डिजिटल दुनिया में आप जीवन बीमा ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं और एक जागरूक ग्राहक बन सकते हैं। जीवन बीमा आपको एक पूर्ण समाधान प्रदान करता है और इस बीमा की मदद से, आप अपने परिवार की आर्थिक सुरक्षा सुनिश्चित करते हैं, विशेषकर आपकी गैर मौजूदगी में।

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.

हर हफ्ते Youth Ki Awaaz हिंदी की बेहतरीन स्टोरीज़ अपने मेल में पाने के लिए यहां सब्सक्राइब करें।