तो क्या अब बिहार को मिलेगा स्पेशल पैकेज ?

Posted by Ankit Srivastava
July 27, 2017

Self-Published

बिहार में हुई राजनीतिक घटना कोई एक दिन का खेल नहीं है बल्कि ये कहानी तो कुछ महीने पहले से ही लिखी जाने लगी थी। हां, कल की घटना के बाद इस कहानी का अन्त जरुर हो गया। नीतीश कुमार और भाजपा का प्रेम किसी से छुपा नहीं है। वो तो मोदी लहर में नीतीश कुमार को अपने वजूद को बचाए रखने का डर था जो उनको महागठबंधन की ओर ले गया। दरअसल कल की घटना नीतीश कुमार के किसी नए अंदाज से रुबरु नहीं कराती बल्कि जो बिहार की राजनीति को समझते हैं उनके लिए ये स्टंट जाना -पहचाना है।

नीतीश का मोदी प्रेम तो उसी समय जाहिर होने लग गया था जब उन्होंने महागठबंधन के विरोध के बावजूद नोटबंदी का समर्थन किया था। इस बात और बल तब मिल गया जब जदायू अध्यक्ष नीतीश कुमार ने एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को समर्थन किया। राजनीतिक जानकार तो उसी समय समझ गए थे की महागठबंधन की दीवार दरक चुकी है, कल तो मात्र औपचारिकता पूरी की गई है।

बिहार को कितना भायदा होगा

अब जब कहानी के रहस्य से पर्दा उठ चुका है तो ये बात जानना जरुरी है कि इस उठापटक से बिहार की जनता को क्या मिलेगा। इस क्रम में सबसे पहली बात है स्पेशल पैकेज की। तो ये तय माना जाए कि चुनावी वादे के दौरान मोदी द्वारा दिए गए स्पेशल पैकेज का वादा अब पूरा होगा। बारहवीं पास कर चुकी पांच हजार लड़कियों को स्कूटी दिलाने का सपना भी, यही नहीं और भी बहुत से वादे थे जो भाजपा ने अपने मैनिफेस्टो में कहे थे। अब देखना ये है कि मोदी और नीतीश की ये जोड़ी बिहार को किस ओर ले जाती है।

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.