#NO_VC_Exist

Self-Published

वहीं दूसरी ओर बी एच यू के उप कुलपति,ने अब अपना काम पूरी ईमानदारी और निष्ठा से करने का फैसला लिया है, उन्होंने बीते कई मामलों को संज्ञान में लेते हुए ये आदेश दिया है कि –

तत्काल मुस्लिम विरोधी टिप्पणी करने वाली उस महिला प्रोफेसर को बर्खास्त किया जाए ! साथ ही उन्होंने छात्र छात्राओं को ये हिदायत दी कि वे अपनी बात मीडिया को बताने से पहले यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन को बताएं, कार्रवाई अवश्य होगी !

इसके साथ ही उन्होंने आदेश दिया कि 1 जुलाई 2017 से –

1 सभी हॉस्टल (M/F) और केन्द्रीय लाइब्रेरी २४ घंटे खुले रहेंगे,

२ सभी मेस उच्च गुणवत्ता युक्त खाना देंगे और प्रति डाईट के हिसाब से ही पैसे लेंगे !

3 समर वेकेशन में अध्ययनरत स्टूडेंट्स से हॉस्टल खाली नहीं करवाए जाएँगे

4 लड़ाई और दंगे में शामिल छात्रों को तुरंत निलंबित कर उनका हॉस्टल रूम लाक कर दिया जाएगा

5 साइबर लाइब्रेरी के सारे बंद पड़े कम्प्यूटर दुरुस्त कर दिए जाएंगे एवं सभी पुरानी जीर्ण-शीर्ण पड़ी किताबें हटाकर नई किताबें रखी जाएंगीं

6 परीक्षा ख़त्म होने के 15 दिन के अंदर ही सारे मार्क्स पोर्टल पर आ जाएँगे, एसाइन्मेन्ट नहीं जमा करने होंगे एवं प्रेजेंटेशन के मार्क्स तुरंत बताए जाएंगे !

7 सभी विभागों में ईमानदार एवं कर्तव्यनिष्ठ अध्यापक ही हेड बनाए जाएंगे, प्रोफ़ेसर राकेश रमन इकोनोमिक्स डिपार्टमेंट के नए हेड होंगे !

8 MMV छात्राओं द्वारा की गई सारी लिखित शिकायतों को संज्ञान में लिया जाएगा !

9 कैम्पस में पांच नई बसें चलाई जाएंगी एवं बंद पड़े ए टी एम ठीक किये जाएंगे,

10 सभी प्रोफ़ेसर नियमित अटेंडेंस लेंगे और लंच का पर्याप्त समय दिया जाएगा !

11 नये छात्र छात्राओं को आई कार्ड, लाइब्रेरी कार्ड, हेल्थ कार्ड,बैंक पासबुक और सम्बंधित कोर्स की सभी किताबे विभाग से निशुल्क प्रदान किये जाएंगे !

12 फ्रेशर,फेयरवेल पार्टी, टीचर्स डे जैसे कार्यक्रमों के प्रबंधन की व्यवस्था विभाग करेगा !

13 प्रवेश लेने वाले सभी स्टूडेंट्स को निश्चित रूप से होस्टल दिया जाएगा,कोई भी अनैच्छिक रूप से बाहर नहीं रहेगा !

इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि वो कोई एहसान नहीं कर रहे ये सब तो उनकी जिम्मेदारी है, अब तक जो स्टूडेंट्स अपने अधिकारों से वंचित रहे, उसके लिए वो क्षमा प्रार्थी हैं !
.
.
.
आपकी तरह मुझे भी पहले बहुत आश्चर्य हुआ कि बिना किसी आन्दोलन, मारपीट,और बवाल के ऐसा हुआ कैसे ??
तभी मेरा चाय पीने का मन हुआ और मैं जैसे ही उठा मेरी नींद खुल गई……….

लेकिन आप परेशान न हों आज नहीं कल नही 5,10,15 साल बाद कोई न कोई योग्य और अपने कर्तव्यों के प्रति सजग प्रशासक तो आएगा ही –
फिलहाल जो हो रहा है होने दीजिये,
जो चल रहा चलने दीजिए
और आप भी चाय पीजिए !!

© Govind Katiyar

#NO_VC_Exist

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.