छोटे कारोबारियों में तेजी से लोकप्रिय हो रहा काउंट मैजिक

Posted by Ankit Srivastava
August 1, 2017

Self-Published

जीएसटी की सारी प्रकिया ऑनलाइन होने के कारण काउंट मैजिक लोगों को सॉफ्टवेयर पसंद आ रहा है। यह सूक्ष्म एवं लघु उद्योगों (एसएमई), व्यवसाय जगत, व्यापारियों, वितरकों और शिक्षा संस्थानों को क्लाउड आधारित बिलिंग समाधान प्रणाली उपलब्ध कराएगा।

काउंट मैजिक सॉफ्टवेयर नई कर प्रणाली के आधार पर काम करने में सक्षम है और जीएसटी आधारित सारा काम इससे किया जा सकता है। इसकी मदद से छोटे कारोबारियों के लिए जीएसटी नियमों का पालन करना बहुत आसान होगा। इसकी मदद से व्यापारी और कारोबारी केवल एक क्लिक से जीएसटी की मासिक फाइलिंग प्रक्रिया पूरी कर लेंगे। यह किसी कारोबार के लिए जीएसटी अनुपालन के साथ इन्वॉयस बनाना, खरीद का हिसाब रखना, स्टॅक मेंटेन, और भुगतान करने को आसान बनाता है।

चार्टर्ड एकाउंटेंटों (सीए) के लिए भी उपयोगी है

काउंट मैजिक को किसी अन्य अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर से एकीकृत किया जा सकता है और इसमें बार कोड का भी विकल्प है। साथ ही ग्राहकों से नकदी रहित लेनदेन के लिए यह भीम एप से भी जुड़ेगा। इसमें अहम दस्तावेजों के लिए ई-लॉकर की सुविधा भी है जिससे सीए से जानकारी साझा करना आसान होगा। इस सालाना केवल 9,999 रुपए का खर्च आएगा। काउंट मैजिक सॉफ्टवेयर कारोबारियों के साथ-साथ उन चार्टर्ड एकाउंटेंटों के लिए भी उपयोगी है, जो छोटे कारोबारियों का हिसाब-किताब रखते हैं।

20 लाख से कम टर्नओवर करने वाले कारोबारी भी इस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर जीएसटी में पंजीकृत व्यापारियों के साथ कारोबार कर सकते हैं।

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.