बच्चों को ऑक्सिजन की कमी नहीं,लापरवाही ने मारा

Posted by Salman Mohd Shad
August 12, 2017

Self-Published

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी से अब तक 60 बच्चों की मौत हो चुकी है। जहां इन मौतों के लिए अस्पताल प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया जा रहा वहीं अस्पताल प्रशासन इन मौतों के लिए जापानी बुखार को वजह मान रहा है। राज्य सरकार ने जांच के आदेश दे तो दिये है लेकिन अब दो चिट्ठियां सामने आई है जो सीधे तौर पर अस्पताल और जिला प्रशासन की लापरवाही को दिखा रही है।

 

पहली चिट्ठी एक अगस्त की है जिसमे अस्पताल को ऑक्सिजन की सप्लाई करने वाली कंपनी की है जिसमे लिखा गया है कि वे सिलिंडर की सप्लाई नहीं कर पाएंगे क्योंकि उनका 63 लाख बकाया है, ये चिठ्ठी बीआरडी कॉलेज के प्रिंसिपल ,जिलाधिकारी व स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक को भेजी गई थी।

दूसरी चिट्ठी 10 अगस्त की है जिमसें सिलिंडर सप्लाई करने वाले कर्मचारियों ने अस्पताल प्रशासन को ऑक्सिजन

सिलिंडर में कमी होने के बारे में बताया था।

इन दोनों चिठ्ठीयो के बाद साफ मालूम होता है कि अस्पताल प्रशासन को ऑक्सिजन की कमी के बारे में पहले से ही पता था उनकी इसी लापरवाही की वजह से 60 बच्चों की मौत हुई।

विपक्षी दलों के कई नेताओं ने जहाँ अस्पताल का दौरा करके शोक प्रकट किया और राज्य सरकार को इन मौतों के लिए जिम्मेदार ठहराया। सोनिया गांधी,मायावती,गुलामनबी आज़ाद,अखिलेश यादव ने बच्चों की मौतों पर संवेदना प्रकट की। शांति नोबल विजेता कैलाश सत्यार्थी ने कहा कि ये हादसा नहीं बल्कि हत्या है।

अब तक बीजेपी सरकार की तरफ से कोई टिप्पणी नही आई इसके इतर आईटी सेल वालो ने तो मीडिया पर ही दोष मढ़ दिया कि ये मौते जापानी बुखार की वजह से हुई है मीडिया झूठी अफवाह फैला रहा है।

एक मुख्यमंत्री के इस्तीफे के 5 मिनट बाद ही ट्वीट करने वाले  प्रधान सेवक जी का गोरखपुर में हुये नरसंहार पर न तो कोई ट्वीट आया न ही कोई बयान।

दिल्ली में डेंगू से मौत होती है तो मोदी बीजेपी और उसके नेता अरविन्द केजरीवाल को उन मौतों का ज़िम्मेदार मानते हुए अरविन्द का इस्तीफ़ा मांगते है उन्हें नाकाम मुख्यमंत्री बताते है केरल में एक संघ के कार्यकर्ता की हत्या होती है और अरुण जेटली वहां राष्ट्रपति शासन की मांग करते है और उत्तर प्रदेश में ऑक्सीजन के अभाव में 60 बच्चों की मौत हो जाती है।

 

मौत भी मुख्यमंत्री के गृहनगर में होती है लेकिन अभी तक प्रधानमन्त्री  मोदी और उनके नेताओ के मुह से एक शब्द भी नही फूटा।कोई बीजेपी नेता योगी सरकार को बर्खास्त करने के मांग नही कर रहा क्रिकेट के लिए कई सारे ट्वीट मोदी ने एक साथ किये थे मगर आज लगता है कि मोदी जी का ट्विटर अकाउंट ही डिलीट हो गया है खैल के मैदान में मोदी के ट्वीट बड़ी तीव्र गति से चलते है मगर जब देश की असल समस्या की बात आती है तो कभी अमरनाथ यात्रियों पर हमला हो जाता है तो कभी सेना पर आतंकी हमला हो जाता है देखते है इन बच्चों की मौत की ख़बर दबाने के लिए किस संगठन के आतंकी आते हैं…!

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.