अथर्व ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट के छात्रों का फ्यूचर इंडिया पर इंटरैक्टिव सेशन ।

Posted by Yudhishthir Mahato
October 30, 2017

Self-Published

अथर्व ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट के छात्रों का  भारत के उपराष्ट्रपति श्रीं वैंकेया नायडू के साथ “फ़्यूचर इंडिया ” पर इंटरैक्टिव सेशन

राज भवन, मुंबई , २८ अक्टूबर २०१७ :  “फ़्यूचर इंडिया ” पर  अथर्व ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट के स्टूडेंट्स से इंटरैक्टिव सेशन में बात करते हुवे भारत के उपराष्ट्रपति श्री एम.  वेंकैया नायडू ने युवाओ से बड़े सपने देखने और लक्ष्य प्राप्ति लिए कठिन परिश्रम का मूलमंत्र दिया। राजभवन में आयोजित इंटरेक्टिव सेशन “फ़्यूचर इंडिया ” विषय में  अथर्व ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट के छात्रों से कई विषयो पर बातचीत की। अथर्व ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट विश्व स्तर की शैक्षणिक वातावरण के लिए जाना जाता है  जहाँ श्री सुनील राणे , एक्जक्यूटिव प्रेजिडेंट, अथर्वा ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट के  दूरदर्शी नेतृत्व में छात्रों को अपनी व्यावसायिक क्षमताओं को विकसित करने के साथ  ही जिम्मेदारी की एक मजबूत भावना को बढ़ावा  दिया जाता है। अथर्व ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट विभिन्न व्यावसायिक पाठ्यक्रम जैसे इंजीनियरिंग, प्रबंधन, होटल प्रबंधन, फैशन, फिल्म और टेलीविजन में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है.

 

भारत के उपराष्ट्रपति, श्री एम.  वेंकैया नायडू ने कहा है कि  बड़े सपने , उच्च लक्ष्य और कठिन परिश्रम ही आपकी महत्वाकांक्षाओं और व्यवसायिक सफलता प्राप्त करने के लिए सबसे बड़े सहायक है । विद्यार्थियों को देश की संस्कृति, इतिहास और विरासत से अच्छी तरह से परिचित होना चाहिए।

श्री सुनील राणे के नेतृत्व में “फ़्यूचर इंडिया ” का आयोजन अथर्व ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट के गौरवशाली इतिहास में एक मील का पत्थर आयोजन के रूप में बदल गया जब अथर्व ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूट्स के छात्रों और कर्मचारियों को संबोधित करते हुवे भारत के उपराष्ट्रपति माननीय श्री एम् वेंकैया नायडू जी कहाकि  महत्पूर्ण है कि समृद्ध भारतीय सभ्यता , सांस्कृतिक  जीवन शैली के समझने के साथ ही औपनिवेशिक मानसिकता से छुटकारा भी पाए।  उन्होंने प्रत्येक छात्र में मातृभाषा के  महत्व पर बल दिया अंत में उन्होंने कृषि के महत्व पर ध्यान केंद्रित किया, जो देश के औद्योगिक विकास के लिए भी महत्वपूर्ण है  जिससे भारत एक महान देश के रूप में राष्ट्रों के समुदायों में अपना स्थान बना सके । भारत के उपराष्ट्रपति  से मिलकर निश्चित रूप से अथर्व ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट के विधार्थियो को व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन में सफल होने का आत्मविश्वास बढ़ेगा।

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.