एक लडकी की दर्द भरी कहानी

Posted by Parveen Kaushik
November 6, 2017

एक लडकी होने पर  दर्द भरी कहानी।

 

बात एक गाव की है। जहा पर एक लडकी रहती थी।उसका पढाई करने मे मन भी लगता था
। वे दो बहने और एक उन दोनो बहनो से छोटा उनका एक भाई था।लेकिन उसके माता पिता को तो बस एक ही डर हमेशा लगा रहता था ।कि कल कदे कोई थारी लडकी के साथ कुछ गलत न हो जाए।

इसी डर के कारण उसके माता पिता और उसकी बुआ ने मिलकर जल्दी जल्दी मे उस लडकी की शादी कर दी।
जिस लडके के साथ उसकी शादी हुई ।वह उससे दस साल बडा था। उसे उसके बारे मे काफी कुछ बताया गया था कि इसके पास तो काफी पैसे है तू शादी के बाद मौज करेगी।

अब शादी के बाद जो सभी लडकियो के साथ होता है ऐसा ही उस लडकी ने भी सोचा था कि तेरे साथ भी ऐसा ही होगा।पर जैसे ही वह अपने ससुराल गयी ।वहा पर उसने पाया की उसके ससुर की तो शादी से पहले ही मौत हो चूकी थी।अब केवल उसके घर मे उसकी सास और उसका पति रहते थे।लडकी के घर वालो ने ये सोच के शादी की थी की हमारी लडकी आराम से मजे मे रहेगी। लडकी के माता पिता ने ब्याज पर भी पैसे लेकर उसकी शादी मे बढ चढ कर खर्च किया।पर उन्हे कया पता था कि उन्होने अपनी लडकी को एक दहेजी घर मे बेच दिया था।

अब तो दहेज कहानी शुरु होनी ही थी।
शादी के दस ही दिन बाद उसकी सास और पति ने उस लडकी को कहा की मेरी सरकारी नौकरी लाग जा गी जो तू अपने घर से 70 हजार रुपये ला के दे दे तो ।वह अगले दिन अपने घर आई तो उसने ये बात अपनी मां को बताई ।तब धीरे से उसकी मा ने यही बात उसके पिता को भी बताई।उसके पिता ने सोचा कोई बात नही अपनी बेटी से तो देने है उसके पिता ने कहा कि बेटी ले जा ।कोई बात नही।

अब पैसे लडके के घर पहुचने पर कुछ दिन तो वे सभी उससे प्यार करने लगे।जैसे ही वे पैसे खत्म हुए।तभी उन्होने अपना गिरगिट की तरह फिर से रुप बदलना शुरु किया।अब कि बार तो उनकी हद ही हो गयी कि वे सभी उसे गंदी और बदचलन कहने लगे।उसको घर से बाहर तक नही जाने देते।

अभी तीन ही महीने हुए थे उसकी शादी को तो तभी उसकी सास भी चल बसी।बस फिर कया था अब तो और भी उसकी लडकी के साथ ज्यादा गलत होना शुरू हो गया।उसका पति जब भी घर से बाहर जाता तो वह हर घर की चीज को ताला लगा के और उसके एक कमरे मे बंद करके जाने लगा।

वह जब भी कुछ बात करती तो तभी वह उसकी पिटाई भी कर देता।जिसके कारण वह डरती नही बोलती थी।और न ही उसे कभी फोन मिलता कि वह अपने घर वालो से तो बात कर ले ।जब भी वह कहती तो उसे यही बात सुनने को मिलती कि मेरे फोन मे पैसे नही है।

अभी उसकी शादी को छह ही महिने हुए थे तो एक दिन उस लडकी का पिता उसके गाव से कही जा रहा था।तो उसने सोचा कयो न अपनी बेटी से मिलता चलू।तो तब उसे सच्चाई का पता चला।तो वह उसी समय अपनी बेटी की यह दशा देखकर रोता हुए उसे वापस अपने घर ले आया।घर पर आने के बाद उसने अपनी बेटी से सारी बाते पुछी । उसने फिर वहा पर लडके के गाव मे पंचायत भी की ।पचायत मे फैसला आया कि तू भाई इस लडकी ने जब तलाक ही दे दे जो या तने नाहे पसंद है तो।उसने वो भी मानने से इंकार कर दिया। अब वह लडकी अपने माता पिता के पास रहकर बारहवी कलास मे पढाई के साथ साथ कम्पयूटर भी सीख रही है।और अपनी पिछली जिदंगी को भूलने की कोशिश करती है पर लेकिन कोई न कोई उसे फिर से उस जिदगी की याद दिला देता है जिससे उसकी रू भी काप उठती है।

 

अब मै आप सभी से ये कुछ बाते पुछना चाहूगा

1.अगर उस लडकी के पिता आप होते तो आप कया करते।
2.जिसकी लडकी के साथ ऐसा हुआ है तो अब उस लडकी को आगे कया करना चाहिए।

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.