कुमार विश्वास की ‘वी द नेशन’ मुहिम से जुड़े DU के ‘पूर्वांचल एकता मिशन’ के छात्र

Posted by
November 12, 2017

Self-Published

दिल्ली समेत आस पास के विभिन्न हिस्सों में बीते 1 हफ्ते से छाए धुंध एवं प्रदूषण की वजह से
पर्यावरण बचाव की समस्या ने आम जनमानस को सोचने पर मजबूर कर दिया है।

एक तरफ जहां राजनैतिक पार्टियां इस प्राणवायु ऑक्सीजन का भी राजनीतिकरण कर रहीं हैं, समस्या का सामूहिक समाधान निकालने के बजाय आरोप प्रत्यारोपों का दौर जारी है।

जहाँ हेलीकाप्टर रैन की बात होती है,तो विपक्षी दल न जाने किस असुरक्षा बोध में इसका विरोध करते हैं,यह समझ से परे है।

जब से दिल्ली में वायु प्रदूषण अपने उच्चतम स्तर पर आया है,तबसे दिल्ली में विभिन्न स्थानों पर NGO एवं सामाजिक संगठन लोगों को राहत सामग्री इत्यादि वितरित करते देखे गए।

बीते दिन दिल्ली के कनॉट प्लेस में दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र संगठन ‘पूर्वांचल एकता मिशन’के छात्र हाथों में बैनर पोस्टर लिए, आम लोगों से संवाद करते देखे गये,
बात करने पर छात्रों ने बताया कि वो देश के सुप्रसिद्ध कवि डॉ कुमार विश्वास की ‘वी द नेशन मुहिम’ को आगे बढ़ा रहे हैं।
छात्रों ने पालिका बाजार,सेंट्रल पार्क में लोगों से प्रश्न संवाद के जरिये सर्वेक्षण किया एवं जरूरतमंदों को मास्क भी वितरित किये।


जिसके अंतर्गत छात्रों का मानना है कि किसी भी राजनैतिक दल से पहले हमारा देश सर्वप्रथम है, सरकारें केवल 5-10 साल की मेहमान हैं, लेकिन यह देश हजारों हजार साल की परंपरा है।
हम सबको देश सर्वोपरि रखना होगा। और इसलिये वो कुमार विश्वास की ‘वी द नेशन’ मुहिम को आगे ले जाना चाहते हैं।

इस मौके पर डीयू के पूर्वांचल एकता मिशन के अध्य्क्ष प्रेम प्रकाश यादव,सचिव राजकुमार,पूर्व केंद्रीय पार्षद प्रशांत कुमार, महासचिव मो0ओमैर,छात्र संघ अध्य्क्ष देवेश तिवारी सहित देशबन्धु कॉलेज के छात्र
विनय सबरवाल,अभिषेक शर्मा,सौरभ गुप्ता,आनंद सिंह,अक्षय यादव,अखिल यादव,निर्भय यादव,निखिल यादव,विष्णु वर्मा,विश्वजीत सिंह,अमन कुमार,अभय मिश्रा, गौरव कुमार,दीपक सिकरवार,शिवम तिवारी,अमित मिश्रा मौजूद रहे।
इस मौके पर दिल्ली विश्विद्यालय के छात्र नेता आयुष पाण्डेय ने सभी का आभार व्यक्त किया एवं ‘वी द नेशन’ को प्रत्येक व्यक्ति तक पहुंचाने का संकल्प लिया!

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.