हार्दिक पटेल वर्जिन नहीं है!

Posted by Ravi RanVeera
November 13, 2017

‘हार्दिक पटेल वर्जिन नहीं है’, गुजरात में यह नारा लगाइए. छोङिये ‘सबका साथ – सबका विकास और ‘गुजरात माॅडल’ का नारा लगाना. विकास, विकास, भ्रष्टाचार, भ्रष्टाचार, राष्ट्रभक्ति के बाद नोटबंदी, जीएसटी और जब कुछ भी नहीं चल पाया तो ले लिए सेक्स सीडी का सहारा. आईटी सेल को बोलिए और हो सकता है तो पूरे गुजरात में स्क्रीनिंग करवा दिजिये. अब यही मुद्दा मिला था उठाने के लिए. लोग तो यूज्ड कंडोम को फेंकने के बाद नही देखते लेकिन आप तो गिजने लगे हैं. हद हो गई राजनीति और लोकतंत्र की. पुराने नोटों की तरह सेक्स पर भी बैन लगाने का विचार है क्या?

सेक्स सीडी मामले में विनोद वर्मा भी सही नहीं थे और ना ही यह मामला सही है. वरिष्ठ पत्रकार अजीत अंजुम का कहना है कि बालिग मनचाहे शारिरिक संबंध बनाने के लिए आजाद है. मैं 25 साल का हूं मैं भी सेक्स करता हूं. इसका मतलब यह नहीं है कि मैं गलत हूं. यदि जबरन सेक्स या यौन शोषण करता हूं तो बिल्कुल सजा होनी चाहिए, चाहे वह गणेश हो या हार्दिक. हार्दिक पटेल के खिलाफ कथित सीडी जारी कर किस तरह की राजनीति की जा रही है. हमारे प्रिय प्रधानमंत्री युवाओं पर भरोसा करते हैं और युवा पीढ़ी का गुणगान लेकिन उन्हें यह भी पता होना कि युवा नपुंसक नहीं होता. हमारा मन पुराना नोट नहीं है.

राॅबर्ट वाड्रा का खुलासा करने वाली पत्रकार रोहिणी सिंह का बीजेपी पीठ थपथपाती है लेकिन जब वही पत्रकार पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के बेटे की कंपनी के बारे में लिखती हैं तो उसे बदचलन, बिकाऊ और पता नहीं क्या क्या कहते हैं. छत्तीसगढ़ सेक्स सीडी मामले में तो विनोद वर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया लेकिन इस मामले में गिरफ्तारी क्यों नहीं? आपकी सत्ता है लेकिन लोकतंत्र हमारा है, भूलिए मत! गुजरात में जारी की गई कथित सेक्स सीडी से बस इतना ही खुलासा हो पाया है कि ‘हार्दिक पटेल वर्जिन नहीं है!’

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.