बैतूल-आदिवासी नारीशक्ति रश्मि धुर्वे बनी नायब तहसीलदार!

NOTE: This post has been self-published by the author. Anyone can write on Youth Ki Awaaz.

बैतूल| म.प्र. लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित राज्य सेवा परीक्षा 2017 में आदिवासी बाहुल्य जिला बैतूल के ग्राम-जोड़क्या की बेटी रश्मि पिता स्व.सी.एल.धुर्वे(एस डी ओ पी) ने लिखित और साक्षात्कार परीक्षा में सफलता प्राप्त की।उनका चयन नायब तहसीलदार पद के लिए हुआ।उनके इस चयन पर माता कमला धुर्वे,एस.आई. प्रवीण धुर्वे,समीक्ष धुर्वे,अन्नू धुर्वे,शंकरलाल धुर्वे,रेंजर यशवंत सिंह धुर्वे,ज्योति धुर्वे(ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर),इंजी.वसंतसिंह धुर्वे,समाजसेवी मनीष कुमार धुर्वे,इंजी.आशीष धुर्वे,पवनसिंह धुर्वे,आकाश धुर्वे,भूतपूर्व सैनिक छन्नूलाल धुर्वे,चन्द्रकला धुर्वे और युवा आदिवासी विकास संगठन बैतूल के पदाधिकारी राजेश कुमार धुर्वे,संदीप कुमार धुर्वे,आनंदराव कवड़े,अलकेश कवड़े,जितेन्द्र इवने,प्रदीप उइके,पवन परते,राजकुमार काकोडिया,सावन इवने,सुनील करोचे,दिलीप धुर्वे,ज्ञानसिंह परते,मनीष परते ने बधाईयाँ देकर हर्ष व्यक्त किया।
JADON’s IAS/PSC Academy द्वारा रश्मि धुर्वे को सम्मानित किया गया।

मनीष कुमार धुर्वे
युवा आवाज बैतूल

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.