वो 40 कहानियां जो बताती हैं कि इस देश के युवा को वाकई फर्क पड़ता है: YKA 2017

Posted by Youth Ki Awaaz in Hindi, Youth Ki Awaaz news
December 31, 2017

इस साल को अलविदा करने और 2018 का स्वागत करने का शायद सबसे अच्छा तरीका यह हो सकता है कि हम Youth Ki Awaaz पर 2017 में पब्लिश हुए उन स्टोरीज़ का एक बार फिर ज़िक्र करें जिन्होंने बदलाव की उम्मीद जगाई, हमारा नज़रिया बदला, समाज में बराबरी की वकालत की।

2017 में YKA पर भारत के युवाओं के अंदाज़ और आवाज़ का सही मायने में प्रतिनिधित्व करने वाली बेहतरीन स्टोरीज़ पब्लिश हुई। आपकी तरह ही यूज़र्स के इन लेखों ने ना सिर्फ एक रचानत्मक बहस की शुरुआत की बल्कि बदलाव का रास्ता भी दिखाया।

1. पढ़े-लिखे, बेहतरीन ड्रेस, क्या अदब लेकिन फिर भी इतने गंदे क्यों?

2. रोहित वेमुला की मौत को 1 साल से ज़्यादा वक्त हो गया है लेकिन ये जाति शायद कभी ना जाती।

3. हमारे उपभोगतावाद वाले जीवन और उसके असर को हमने कितना सहज मान लिया है।

 

यह स्टोरी लगभग 60 हज़ार यूज़र्स द्वारा पढ़ी गई थी, और इनमें से बहुतों ने झारखंड सरकार को यथासंभव मदद की पेशकश की।

4. जिस तरह से हमारे देश में खिलाड़ियों के साथ पेश आया जाता है वो वाकई शर्मनाक है।

 

यह स्टोरी वायरल हो गई और कुछ ही दिनों में केंद्रीय खेल मंत्री विजय गोयल ने कहा कि असम सरकार उन्हें तीरंदाजी कोच के तौर पर नियुक्त करेगी।

5. महिलाएं रात में भी काम करती हैं, जबकि पुरुष बस पत्ते खेलते और समय काटते नज़र आते हैं।

 

यह स्टोरी 120 हज़ार से भी ज़्यादा लोगों द्वारा पढ़ी गई और इससे महिला अधिकारों को लेकर एक बेहद महत्वपूर्ण चर्चा की शुरुआत की।

6. सरकार कैसे हाशिये के समाज के अधिकारों की रक्षा करने में बार-बार असफल हुई है, यह लेख उसी की बानगी है।

 

128 हज़ार लोगों द्वारा पढ़ा और शेयर किया गया यह मज़बूत लेख एक कड़वी सच्चाई है।

7. 50 साल की लीला, पिछले तीन साल से इस गांव में अकेली रह रही हैं।

 

184 हज़ार से भी ज़्याद बार पढ़ी गई यह स्टोरी YKA पर 2017 की सबसे ज़्यादा पढ़ी गई स्टोरी थी।

8. गोरी चमड़ी के 100 स्कवेयर इंच की दिल्ली और मुंबई में कीमत 50 हज़ार से लेकर 1 लाख रुपये तक है।

 

5 लाख से भी ज़्यादा पेज व्यूज़ के साथ यह स्टोरी YKA पर इस साल की सबसे ज़्यादा पढ़ी गई स्टोरी रही। इसके बाद नेपाल सरकार ने भी इस कारोबार पर नकेल कसने का आश्वासन दिया। इस स्टोरी के लिए सोमा बासु को बेहद ही बहुचर्चित कर्ट शॉर्क मेमोरियल अवॉर्ड में लोकल रिपोर्टर कैटेगरी में सम्मानित किया गया।

9. एक लेखक की भारत की सबसे चहेती महिला को रचने की कहानी।

10. हरियाणा, पंजाब और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में दुल्हनों की तस्करी एक फैलता व्यापार है। वजह है कन्या भ्रूण हत्या के कारण लगातार घटता लिंग अनुपात।

11. मेंटल हेल्थ को भी किसी और स्वास्थ्य परेशानी की तरह ही विशेषज्ञों का उपचार चाहिए, ना कि सिर्फ ‘हैप्पी और पॉज़िटिव सोच’

 

डिप्रेशन पर चर्चा करने के लिए WHO के साथ शुरू किये गए कैंपेन Let’s Talk में सैंकड़ों YKA यूज़र्स ने अपने निजी अनुभव साझा किए, जिससे यह तो साफ है कि इस मुद्दे पर चर्चा लगातार होनी चाहिए।

12. फेक न्यूज़ की परेशानी और उससे होने वाले खतरे शायद हमारी कल्पना से भी परे है।

13. देश में 70 प्रतिशत महिलाएं सैनिटरी नैपकीन नहीं खरीद सकतीं लेकिन सरकार के हिसाब से सैनिटरी नैपकीन पर टैक्स लगाना एक अच्छा आइडिया है।

 

माहवारी के दौरान स्वास्थ्य और स्वच्छता को लेकर YKA के कैंपेन #IAmNotDown  में सैकड़ों यूज़र्स ने अपनी बेहद ही मज़बूत निजी अनुभवों को साझा करते हुए टैक्स फ्री नैपकीन की मांग की।

14. जब तक आखिरी महिला सशक्त नहीं  होगी हम में से कोई सशक्त नहीं होगा।

15. वो देश जहां महिलाओं से ज़्यादा पुरुष हैं वहां महिलाएं तो खुलकर अपनी यौन इच्छाओं को जीती होंगी, है ना?

 

94 हज़ार से ज़्यादा बार पढ़ी गई इस स्टोरी ने महिलाओं की यौन इच्छाओं पर महत्वपूर्ण बहस शुरू की।

16. पीरियड्स में महिलाओं को रोज़ा रखने की इजाज़त नहीं दी जाती।

 

ज़ैनब की इस स्टोरी ने बेहद ही विवादास्पद माने जाने वाले मुद्दे पर चुप्पी तोड़ी। 52 हज़ार से ज़्यादा लोगों द्वारा पढ़ी गई इस स्टोरी ने धर्म के नाम पर महिलाओं के साथ जोड़ी जाने वाली शर्म और उससे होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं पर बात की।

17. म्यांमार सरकार द्वारा नज़रअंदाज़ कर दी गईं रोहिंग्या मुस्लिम महिलाएं कुछ इस हाल में हैं।

18. वो संख्या में भले ही कम हों लेकिन उनकी संख्या लगातार बढ़ रही है।

 

हिंदुस्तानी लोग सेक्स को लेकर तो थोड़े बहुत खुले विचार के हैं लेकिन अपनी सेक्शुअल इच्छाओं को डिस्कस करना आज भी बुरी बात मानी जाती है। इस पोस्ट ने सोशल मीडिया पर एक बहस शुरू की।

19. इस गांव में आखिरी शादी 20 साल पहले हुई थी।

 

यह वीडियो रिपोर्ट पब्लिश होने के बाद डॉ. अश्विनी पराशर द्वारा शुरू की गई #SaveRajghat मुहिम को काफी पहचान मिली। और कोर्ट से भी मामले में नोटिस जारी की गई।

20. महिला होकर सवाल उठाती है ‘बद्चलन’

 

ऑनलाइन हैरसमेंट पर लिखी इस स्टोरी पर लोगों की काफी सराहना मिलने के साथ, सिमरन ने एक इस मुद्दे का हल निकालने के लिए एक कैंपेन शुरू की जिसे शशी थरूर, शहज़ाद पूनावाला, आर माधवन और कविता कृष्णन का सहयोग मिला।

21. कश्मीर के एक रिमोट गांव में बच्चों को पढ़ाने का अनुभव।

22. क्योंकि जाति और जन्म कुंडली ही काफी नहीं होती।

23. ये उन लोगों के लिए जिनका मानना है कि इन्टरनेट पर लिख कर क्या बदल जाएगा।

 

यह स्टोरी पब्लिश होने के कुछ ही घंटे में मुंबई पुलिस ने FIR दाखिल की और आरोपी को पकड़ा गया।

24. धर्म से जूझते एक जवान लड़के की कहानी।

25. भाषाई महत्ता की लड़ाई में उलझे लोगों के लिए शशी थरूर का सुझाव।

26. ओह्ह्हो ये गुस्ताखी कि ब्रा का स्ट्रैप सरेआम दिखे?

27. लाखों लोग जो अंधभक्त को बढ़ावा देते हैं उनमें से कुछ की ज़ुबानी।

28. क्या किसी स्टूडेंट की सेक्शुएलिटी किसी को हॉस्टल से निकालने की वजह होनी चाहिए?

29. हम सब ने इस परेशानी का सामना किया है लेकिन कभी इसका हल ढूंढने की कोशिश की है?

 

यह स्टोरी लाखों लोगों द्वारा पढ़ी और शेयर की गई। और यह इस बात को दिखाता है कि कोई भी मसला चाहे आपको कितना भी छोटा क्यों ना लगे लेकिन वो हो सकता है बहुत से लोगों की परेशानी हो।

30. जब तक हम यौन हिंसा के खिलाफ आवाज़ नहीं उठाएंगे तब तक यह समाज इसे इग्नोर करता रहेगा।

 

#MeToo कैंपेन के शुरू होने के बाद YKA के बहुत साले यूज़र्स ने यौन हिंसा की अपनी कहानी शेयर की।

31. बचपन में हुई यौन हिंसा का जख़्म लादी गई चुप्पी के साथ और गहरा होते जाता है।

32. गौरी लंकेश की हत्या के बाद की दिल को छू लेने वाली बातचीत।

33. सोशल मीडिया पोस्ट पर मीडिया में बवाल के बाद गुरमेहर ने पहली बार YKA के ज़रिए अपनी चुप्पी तोड़ी।

 

गुरमेहर YKA पर एक नियमित लेखक हैं और उनकी स्टोरीज़ #MeharSpeaks पर पढ़ी जा सकती  है।

34. हालांकि हम हस्तमैथुन पर भी बात नहीं  करते हैं लेकिन महिलाओं के हस्तमैथुन पर तो बिल्कुल बात नहीं करते।

 

170 हज़ार पेज व्यूज़ के साथ इस सर्वे ने सोशल मीडिया पर एक गंभीर बहस शुरू की।

35. कमलेश के बात करने के अंदाज़ में भी हमने कॉमेडी ढूंढ ली लेकिन असल मुद्दे की परवाह किसे है।

36. जो विकास लोगों का जीवन बर्बाद कर दे उस विकास का क्या मतलब?

 

मुंबई के एक्टिव यूज़र्स लगातार आरे फॉरेस्ट के बारे में लिख रहे हैं।

37. देश के सबसे सम्मानित शिक्षण संस्थानों में भी जाति कैसे अहम रोल निभाती है, YKA की स्पेशल पड़ताल।

 

यह स्टोरी तुरंत वायरल हुई और बड़ी खबर बनी।

38. अरे कैसी बात है, जाति तो बीते ज़माने की बात है, अब कहां होता है यह सब, है ना?

39. पूरे देश में किए गए इस रिसर्च से पता चलता है कि डेरी व्यवसाय में जानवरों पर कितना अत्याचार किया जाता है।

40. अफराज़ुल की हत्या ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया।

यकीन मानिए आपके लेख और आपके शब्दों में बहुत ताकत है। आइये 2018 में एक बेहतर समाज, देश और दुनिया बनाने के लिए इसका भरपूर इस्तेमाल करें।

हर हफ्ते Youth Ki Awaaz हिंदी की बेहतरीन स्टोरीज़ अपने मेल में पाने के लिए यहां सब्सक्राइब करें।