Share Your Smile To Earn Positive Mind, Positive Life !

Posted by Preeti Panwar Solanki
December 8, 2017

NOTE: This post has been self-published by the author. Anyone can write on Youth Ki Awaaz.

Read here also

Share Your Smile To Earn Positive Mind, Positive Life !

Share Your Smile

by Spiritual author Jayashree Choudhary

share your smile , by insaneeye.in, preeti panwar solanki

share your smile , by insaneeye.in, preeti panwar solanki
share your smile

 

 

 

दोस्तो, जैसा हम कार्य करते है, वैसा ही महसूस करते हैं। धीरे धीरे वो हमारे व्यवहार में झलकने लगता है और वो हमारा सामान्य स्वभाव बन जाता है।

क्यों नही मुस्कराने (SMILING) के लिए कुछ काम किया जाए, जिससे “मुस्कान” हमारा सामान्य स्वभाव बन जाये।

तो फिर आप तैयार है मुस्कराने के लिए ?

Image result for share your smile with the world

Share Your Smile

आपकी सोच बिल्कुल सही है, ज़िंदगी इतनी परेशानियों से भरी हुई फिर भला चेहरे पर  ‘मुस्कान’ की सोच तो बहुत दूर की बात होती है। मेरा भी यही सोचना था। One day I was sitting at my working… रोज़मर्रा की तरह काम चल रहा था। मैंने सब लोगो के चेहरों को पढ़ने (observe) करने की कोशिश की, तो देखा सब परेशान है। कोई काम न होने से परेशान, तो कोई काम ज्यादा होने से परेशान और कोई दुसरो को खुश देख कर परेशान। फिर स्वयं के चेहरे को देखा, लगा कुछ परेशानियां तो इस चेहरे में भी है।

Image result for share your smile

share your smile

imagesource

उसी दिन से सोचा – काम तो करना ही है, फिर क्यों न खुश हो कर, चेहरे पर मुस्कराहट के साथ किया जाए। बस वो चेहरे

की मुस्कुराहट आज तक बनी हुई है। ‘मुस्कराहट’ से सबसे ज्यादा फायदा यह हुआ कि अपने आस-पास भी आपनेआप एक सकारात्मक ऊर्जा का वातावरण तैयार हो उठा।

preeti panwar solanki,mrsunited nations

Share Your Smile

“Positive Mind, Positive Vibes, Positive Life.”

‘मुस्कराते चेहरे’ दुनिया के हर इंसान को पसंद है और वो इससे आंतरिक शांति महसूस करता है। आपके चेहरे की मुस्कराहट को देख सामने वाले के चेहरे पर मुस्कराहट आपनेआप आती है। किसी के चेहरे पर मुस्कराहट लाना, ये भी आपनेआप में बहुत बड़ी कला है।

ये मुस्कराहट तब बहुत ‘आसान’ है, जब हम ‘ योग – प्राणायाम – ध्यान’ को दिनचर्या का हिस्सा बना देवे और कम से कम मात्र 20-30 मिनट प्रितिदिन अपने स्वयं के लिए ज़रूर समय निकले। तो फिर आप कब से ‘योग – प्राणायाम – ध्यान’ को दिनचर्या का हिस्सा बना रहे है?

Image result for yoga and smile

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.