शिकायत पर पहुंचे अधिकारियों ने हटवाया कब्ज़ा, भूमाफियाओं में मचा हड़कम्प

Posted by Rohilkhand News
January 4, 2018

Self-Published

हरदोई।

सुधीर गंगवार

तहसील दिवस पर गांव के लोगों द्वारा जिलाधिकारी के समक्ष की गई शिकायत पर टीम गठित की थी। टीम ने ग्राम पंचायत की भूमि को कब्जामुक्त कराया। अधिकारियों की इस कार्रवाई से भूमाफियाओं में हड़कम्प मच गया।

मंगलवार को तहसील समाधान दिवस बिलग्राम में जिलाधिकारी के समक्ष माधौगंज थाना क्षेत्र के गांव पिलखना के देवेन्द्र आदि ने ग्राम समाज की जमीन को कब्जामुक्त कराने का शिकायती पत्र दिया था। जिलाधिकारी पुलकित खरे के निर्देश पर एडीएम विपिन कुमार मिश्र अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी ज्ञानंजय सिह एसडीएम बिलग्राम श्रद्धा सांडियाल थानाध्यक्ष जावेद अहमद टीम के साथ गुरूवार को गांव पहुचे। गांव के शिकायतकर्ता देवेन्द्र आदि की शिकायती पत्र पर टीम के लेखपाल बेचेलाल गुप्ता, पुष्पेन्द्र बहादुर रामसच्चे यादव कानूनगो महेन्द्र प्रताप सिह, पुलिस एसआई सुरेन्द्र सिह, सिपाही अरूण कुमार, संगीता धर्मराज सिह, सरफराज, शोभित सिह ने गाटा संख्या 89/0.989, 90/0.038 श्मशान भूमि की पैमाइश कर उसके आंशिक भाग को कब्जामुक्त कराया।

इसी गांव के गाटा संख्या 125/0.6200 की निशानदेही की गई। जिसमे लगा उपलो का बठिया हटवा दिया गया। यह भूमिखण्ड संक्रमणीय अंकित है। गाटा संख्या 36 गांव सभा की श्रेणी 1 की सम्पति है जो अभिलेखों में अंकित है। इसी प्रकार सेउढई गांव में भी गांव की भूमि को कब्जामुक्त किया गया। राजस्व व पुलिस टीम की कार्रवाई से भूमाफियाओं में खलबली मच गई।

जिलाधिकारी के निर्देश पर जमीन को कब्जामुक्त कराने के लिए गांव पहुची टीम के कार्यो की जहां एक ओर प्रशंसा हुई है वही भूमि खण्ड पर खडी रवी की फसल पर ट्रेक्टर चलाकर जोत दिए जाने से किसानों में भारी तकलीफ भी दिखाई दी।

गांववालों कहना है कि गांव की जमीन को कब्जामुक्त करने के लिए फसल कटने का इन्तजार करना था। लहलाहाती रवी की फसल को ट्रेक्टर से नष्ट होते देखकर किसान का दिल दहल गया। मंहगे खाद बीज का इस्तेमाल कर बोई गई थी।

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.