मेरे देश का किसान

Posted by SHREE DWARKA
March 8, 2018

NOTE: This post has been self-published by the author. Anyone can write on Youth Ki Awaaz.

आज लोग क्यों सडको पर उतर आते है जब दाल के भाव बढ़ जाते है , कभी ये नही सोचते कि कितनी मेहनत करता है किसान इसे यहा तक लाने में पूरे 4-5 महीनों की मेहनत को जब वो बाजार में लाता है ऐसी आस के साथ कि वो अब घर पर अपने बीवी बच्चो के लिए कुछ नया ले जाएगा लेकिन वहा उसका सोचना गलत होता है । क्योंकि बड़े घरो में बैठे रईसों को अच्छा नही लगता कि कोई उनके जितना कमाए ओर तो कुछ उन्हें दिखता नही चल पड़ते है धरना प्रदर्शन करने की दाल महंगी हो गयी सब्जी महंगी हो गयी ,अरे  यार में ज्यादा कुछ नही बोलता बस एक दिन जाकर उस किसान की जगह काम करके देखो तब पता चलेगा कि मेहनत क्या होती है , जब पेप्सी वाला 2 रुपया वाली उस जहर की बोतल को 100 रुपया की कर देता है तब तूम लोग उसे शौख से पीते हो और अगर वही गन्ने का जूस 10 रुपये से 15 बी हो जाये तो मौत आती है तुम्हे उसे पैसे देने में  ,वही आलू 10 रूपए से 12 रुपया हो जाये तो तुम उस सब्जीवाले से सब्जी लेना बंद कर देते ही ओर वही नामी ब्रांड तुम्हे उसी आलू के चिप्स को 10 रुपये के 50 ग्राम बेचता है और तुम उसे शौख से लेते हो। में किसी के बारे में कोई भी बुराई नही लिखूंगा लड़ूंगा बस किसान के हक में क्योंकि में भी उसी किसान का पड़ा लिखा सक्षम बेटा हु। यार भाई तुमलोग सक्षम हो हर तरीके से तो तुम क्यों धरने देते हो सोचो हमने बी हमारा एक संघठन बना लिया ओर एक साल सिर्फ खुद के लिए ही खेती करि , किस को वोट नही दिया , किसी बी बाजार की चीजों का उपयोग नही किया तो कसम इस धरती पुत्र की फिर ये देश किसान चलायेया , फिर सारे जो ये लोग है ना एयरकंडीशनर में बैठे बैठे सोशल मीडिया पर लिखते रहते है कि किसान ने सुसाइड किया इसका हमे दुख है और उसे ही अपनी राजनीति बना लेते है तुम बी सुन लेना फिर प्रधानमंत्री भी किसान होगा और राष्ट्रपति भी फिर बोलते रहना की उस पूर्व नेता ने सुसाइड कर लिया इसका हमे दुख है । सालो सबसे ज्यादा इस देश को खोखला तुम नेताओ ने किया है बेचारा किसान अपनी गाड़ी ले जाता है तो उस पर टैक्स लेते हो और तुम जब टोलटैक्स से निकलते हो है वो भी बिना टैक्स दिए फिर बी कहते हो कि किसान चोर है  सुधार जाओ मौका है वरना फिर धोखा ही धोखा है वो दिन ज्यादा दूर नही है जब तुम सब किसानों के पैरो में गिरोगे,

इज्जत करो उनकी जिनकी वजह से तुम आज भोजन करते हो , ओर सलाम करो उनको जिनकी  वजह  से।तुम   चैन की नींद  सोते हो ।

जय जवान , जय किसान

Youth Ki Awaaz is an open platform where anybody can publish. This post does not necessarily represent the platform's views and opinions.