इंटरनैशनल डांसर, योग ट्रेनर नताशा, जिसने डिप्रेशन, एक्सीडेंट से भी नहीं मानी हार

Posted by जोश Talks in Hindi, Inspiration
June 22, 2018

ज़िन्दगी में ऐसा कितनी ही बार होता है जब हम सारी उम्मीदें खो चुके होते हैं। अभी आप भी गिनेंगे तो हज़ारों ऐसी बातें याद आएंगी जिनके कारण हम अपनी ज़िन्दगी, समस्याएं और परिस्थितयों को कोसने लग जाते हैं। चारों तरफ बस नकारात्मकता ही होती है और हमारी काम करने की, खुश रहने की क्षमता खत्म होने लगती है।

इन सब की वजह से नौकरी हो या निजी ज़िन्दगी की समस्याएं, आप सबसे सही तरीके से सौदा कर ही नहीं पाते हैं। इन सब का क्या हल है ? यहां हम सिर्फ बातों के ज़रिए आपको इन सबसे लड़ने के तरीके नहीं बातएंगे। आपके सामने उदाहरण स्वरुप हैं नताशा नोएल एक ऐसी लड़की जिसने हज़ारों मुश्किलें सही, जिनका बलात्कार हुआ, कितने ही दिनों तक डिप्रेशन में रहीं और आज एक विश्व प्रसिद्द योगिनी, फिटनेस ट्रेनर और नर्तकी हैं।

नताशा का कहना है,

योग मेरे लिए आज़ादी है, मुक्ति है, खुद को समझने का तरीका है, खुद को ढूंढ़ने का, मुश्किलों में शांत रहना का ज़रिया है। मुश्किल से मुश्किल और घिनौनी स्थितियों में खुद को स्थिर रखने का तरीका है योग। अपने अंतर्मन को समझना, सारे नकारात्मक ख्यालों को मिटाना है तो योग से अच्छा और कुछ नहीं है।

यदि आप भी अपनी परेशानी से मुक्त होना चाहते हैं और खुद को मानसिक एवं शारीरिक सुख देना चाहते हैं तो योग अपनाएं।

नताशा की ज़िन्दगी में बचपन से ही ऐसा बहुत कुछ हुआ है जिसके कारण वो बहुत नकारात्मक हो गई थीं। फिर उन्होंने खुद को उस सब से दूर रखने के लिए नृत्य शुरू किया। उन्होंने पांच साल तक बहुत सी डांस फॉर्म्स सीखी और डांस के ज़रिये उन्हें एहसास हुआ कि वो कितनी खूबसूरत हैं। लेकिन फिर एक एक्सीडेंट के कारण उन्हें डांस छोड़ना पड़ा। 1 साल तक नृत्य से दूर रहना पड़ा। उसके बाद उन्होंने योग करना शुरू किया और आज वो योग ट्रेनर हैं। योग के ज़रिए खुद को पाकर, उन्होंने अपनी मन की शान्ति और विचारों की आज़ादी पाई। आज नताशा हज़ारों-लाखों लोगों के लिए एक प्रेरणा हैं।

हर हफ्ते Youth Ki Awaaz हिंदी की बेहतरीन स्टोरीज़ अपने मेल में पाने के लिए यहां सब्सक्राइब करें।