‘इंडियन रिहाना’ रेनी कुजूर, जिन्होंने दुनिया को बताया परियां काली भी होती हैं

Posted by Raju Murmu in Art, Culture-Vulture, Hindi, Staff Picks
July 20, 2018

रेनी कुजूर, मशहूर अंतरराष्ट्रीय पॉप सिंगर ‘रिहाना’ की तरह दिखनी वाली भारतीय मूल की मॉडल हैं। इस छत्तीसगढ़ी आदिवासी युवती का मॉडलिंग की दुनिया में अपना करियर चुनना, प्रतिस्पर्धा के बाद दिल्ली से लन्दन पहुंचना और एक मुकाम हासिल करने के पीछे काफी संघर्ष छुपा है।

रेनी कुजूर छतीसगढ़ के जशपुर ज़िले के पिरई गांव की रहने वाली हैं, जो एक आदिवासी समुदाय से सम्बन्ध रखती हैं। उनके पिता फिडेलियस कुजूर दिल्ली में स्वास्थ्य मंत्रालय में कार्यालय अधीक्षक के पद पर कार्यरत थे। लेकिन, रिटायरमेंट से पहले हृदय एवं कैंसर जैसी बीमारी से पीड़ित होने के कारण उन्हें अपना सरकारी जॉब छोड़कर अपने पैतृक गांव छतीसगढ़ वापस आना पड़ा। यहां आकर वे खेती बाड़ी के काम में लग गए।

आज उसकी लाडली बेटी सफलता के मुकाम में अपने दम पर पहुंची हैं। यह देखकर उनके पिता फुले नहीं समाते हैं। हालांकि, मां ने उन्हें कई बार कहा कि तू काली है, मॉडलिंग की दुनिया में सुंदर और गोरी लड़कियां ही सफल होती हैं। तुम मॉडलिंग करने का सपना छोड़ दो और अपने करियर पर ध्यान दो। बावजूद इसके रेनी ने अपना विचार नहीं बदला और मॉडलिंग को अपना करियर बनाने के लिए वो दिल्ली वापस आ गईं।

रेनी भावुक होकर एक इंटरव्यू में कहती हैं,

लोग आगे नहीं बढ़ने देते हैं हम ट्राइबल लड़कियों को। वे सोचते हैं कि हम ट्राइबल लड़कियां कुछ नहीं कर सकती हैं। हम आदिवासी लोग सिर्फ सरकारी नौकरियों से ऊपर सोच ही नहीं सकते। परन्तु मैं इस सोच को बदलना चाहती हूं। हम भारतीय अदिवासी लड़कियां सब कुछ करने में योग्य हैं, जो वो करना चाहती हैं।

रेनी को अपने काले रंग और अंग्रेजी बोलने में कठिनाई की वजह से कई बड़े प्रोजेक्ट में काम नहीं मिला। शुरुआती दौर बड़े ही चैलेंज से भरा हुआ था। कहते हैं कि मॉडलिंग की दुनिया का सच बहुत कड़वा है, एक मॉडल को अपने प्रोजेक्ट हासिल करने के लिए कई तरह के  कॉम्प्रमाइज़ करने पड़ते हैं। लोगों ने भी रेनी को ऐसे प्रपोज़ल दिए लेकिन, उसने हार नहीं मानी और डटी रहीं।

रेनी कुजूर को लोग उनके रंग और छोटी नाक की वजह से रंग सूचक कटाक्ष और ‘चपटी नाक’ वाली लड़की तक कहकर चिढ़ाते थे। रेनी कुजूर का मॉडलिंग तक का सफर युवा वर्ग को एक प्रेरणा देता है और हमें भावनात्मक रूप से सोचने को मजबूर भी करता है। खासकर, भारत जैसे देश में जहां गोरा रंग एक ‘टैबू’ माना जाता है। ऐसे में रेनी की कहानी नए युवा वर्ग को प्रेरित करेगी।

इंटरनेशनल पॉप स्टार रिहाना के दुनियाभर में लाखों करोड़ों फैन्स हैं, तभी तो जब लोगों ने रेनी की तस्वीर और वीडियोज़ सोशल मीडिया यूट्यूब में देखा, तो लोगों को पहचानने में मुश्किल हो गया कि ये रिहाना हैं या रेनी। उनके फोटोशूट और वीडियोज़ सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहे हैं। कई टीवी मीडिया वाले उनके इंटरव्यू के लिए उन्हें आमंत्रित कर रहे हैं।

रेनी एक इंटरव्यू में बताती हैं कि जब पहली बार वह रैम्प में एक गुड़ियां की तरह उतरी तो लोग उन्हें देखते ही चिल्ला उठे, “देखो, देखो एक काली परी उतर कर आ गई है।” यह सुनकर रेनी रोते हुए वहां से चली गईं। आज रेनी कुजूर के वे आंसू उनकी ताकत बन गए हैं।

रेनी को खूबसूरत कहने वालों की कोई कमी नहीं है। आज कुछ लोग कहते हैं, कुछ परियां काली भी होती हैं। पूरा सोशल मीडिया रेनी का दीवाना हो गया है और उसे ‘इंडियन रिहाना’ कहने से कोई दिक्कत नहीं। रिहाना जानी-मानी पॉप सिंगर स्टार हैं। उन्होंने भी अपने शुरुआती दौर में अपने रंग को लेकर बहुत स्ट्रगल किया था। रेनी कुजूर, रिहाना से बहुत प्रभावित हैं और वो एक बार रिहाना से ज़रूर मिलना चाहती हैं।

रेनी अपने अनुभव को शेयर करते हुए बताती हैं,

मॉडलिंग के दौरान उनका ज़्यादा से ज़्यादा मेकअप किया जाता था, ताकि उनका रंग थोड़ा साफ दिखे। फोटोशूट के बाद उनकी तस्वीर एडिट की जाती थी ताकि उनका रंग ज़्यादा से ज़्यादा सुंदर दिखे।

रेनी ऐसी ही एक घटना का जिक्र करती हैं, एक बार एक मेकअप आर्टिस्ट ने उनका मज़ाक उड़ाते हुए कहा कि सुंदर लड़कियों का  मेकअप करना इतना मुश्किल नहीं होता, जितना रेनी जैसे मॉडल का मेकअप करना है। देखो, काली लड़की को मैंने गोरा बना दिया। इस तरह के व्यवहार से रेनी परेशान ज़रूर हुईं लेकिन, कमज़ोर नहीं हुईं। इतनी दिक्कतें झेलने और ताने सुनने के बावजूद वो अपने करियर के लिए शिद्दत से संघर्ष करती रहीं।

एक दिन उनके कुछ मित्रों ने उससे कहा कि वो पॉप सिंगर ‘रिहाना’ की तरह दिखती हैं। रेनी इसे शायद एक मज़ाक ही समझती रहीं। एक दिन उनके दोस्तों ने बिना मेकअप के उनका फोटोशूट कर लिया। शुरुआत में रेनी, रिहाना वाली बात पर खूब हंसती थीं। लेकिन, धीरे-धीरे सब लोग उनसे यही कहने लगे कि तुम्हारा चेहरा पॉप सिंगर ‘रिहाना’ से बहुत मिलता है। फोटोग्राफर भी अपने क्लाइंट से कहने लगे कि यह  ‘इंडियन रिहाना’ की तस्वीर है। इससे कई क्लाइंट्स इम्प्रेस होने लगे, जिसके कारण रेनी को कई प्रोजेक्ट में अब काम मिलना शुरू गया था। रेनी कहती हैं कि आज रिहाना जैसे दिखने की वजह से मेरे जीवन में काफी चीज़ें आसान हो गई हैं। जैसे, उसे अब यह नहीं कहना पड़ता कि वह सुंदर नहीं हैं। क्योंकि लोग रिहाना को सुंदर और हॉट मानते हैं। रेनी इस बात को पूरे तौर से स्वीकारती हैं कि उनका लूक मशहूर पॉप सिंगर रिहाना से मिलने के कारण रिहाना उसकी लक्की फैक्ट्स हैं।

रेनी कुजूर जैसी आदिवासी लड़कियों का मॉडलिंग की दुनिया का सफर भावनात्मक रूप से सभी को प्रेरित करने वाला है। उनके उस संघर्ष से भरे जीवन से हमें यही सीखना चाहिए कि रंग गोरा हो या काला, एक इंसान के अंदर उसकी नियत और चरित्र खूबसूरत होनी चाहिए।

इस 21वीं सदी में हम भारतीयों को ऊंच-नीच, जात-पात, छोटा-बड़ा, काले- गोरे का फर्क करना अब बंद कर देना चाहिए तभी भारत एक महान देश बन सकता है।

हर हफ्ते Youth Ki Awaaz हिंदी की बेहतरीन स्टोरीज़ अपने मेल में पाने के लिए यहां सब्सक्राइब करें।

Similar Posts
gunjan goswami in Art
August 14, 2018
Rajesh Serupally in Art
August 10, 2018
Sumant in Art
August 8, 2018