“सिर्फ डिग्री पर नौकरी नहीं मिली लेकिन एक इंटर्नशिप ने मेरा करियर बदल दिया”

Posted by Internshala in Education, Hindi, My Story
July 20, 2018

मैं बी.सी.ए. डिग्री के साथ ग्रैजुएट हुआ व मेरे पास कार्यानुभव भी था मगर यह अनुभव मुझे एक अच्छी कंपनी में प्लेसमेंट दिलाने के लिए पर्याप्त नहीं था। अतः मैं कौशल और प्रैक्टिकल अनुभव प्राप्त करने के लिए इंटर्नशिप ढूंढने लगा, किन्तु इसमें भी एक बाधा थी। मैं श्रीनगर में रहता था जहां एक मामूली नौकरी मिलने की सम्भावना भी बहुत कम थी तो फिर इंटर्नशिप मिलना तो और भी मुश्किल था।

इसलिए मैंने वर्चुअल इंटर्नशिप करने का निर्णय लिया और इंटर्नशाला पर इंटर्नशिप्स के लिए आवेदन करने लगा। यह मेरे लिए एक महत्त्वपूर्ण मोड़ साबित हुआ।

मुझे उम्मीद नहीं थी कि मुझे कोई इंटर्नशिप मिलेगी लेकिन फिर जल्दी ही मैं एक ‘वेब डेवलपमेंट’ इंटर्नशिप के लिए शॉर्टलिस्ट किया गया। Noora International कंपनी से एक मैनेजर ने मुझे टेलीफोनिक इंटरव्यू के लिए कॉल किया। इंटरव्यू मेरे परिचय और अकादमिक प्रदर्शन पर बातचीत के साथ शुरू हुआ। फिर मेरे कौशल पर चर्चा शुरू हुई और मैंने उन्हें बताया कि मुझे PHP का पर्याप्त ज्ञान है।

उन्होंने पूछा यदि मैंने पहले किसी CMS(Content Management System) पर काम किया है; तो मैंने उन्हें बताया कि मैंने Joomla और WordPress पर काम किया है। उसके बाद उन्होंने मेरी उपलब्धि के बारे में पूछा और यह भी पूछा कि मैं काम को कितना समय दे पाउंगा। मुझसे यह भी पूछा गया कि क्या मैं कंटेंट डेवेलपमेंट टीम के साथ काम कर वेबसाइट की तकनीकी पहलुओं को मैनेज कर सकता हूं? और यदि मैं क्रिएटिव टीम के कार्य में कुछ सहायता कर सकता हूं, जिसका उत्तर मैंने ‘हां’ में दिया। उसके बाद उन्होंने मुझसे पूछा यदि मुझे WooCommerce और SEO मैनेजमेंट की जानकारी है, जिसका मैंने नकारात्मक उत्तर दिया।

फिर उन्होंने मुझे कार्य सम्बंधित सारी ज़िम्मेदारियां समझायीं और एक असाइनमेंट दिया जिसके अंतर्गत मुझे उनके ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट के लिए एक ऐसा पेमेंट गेटवे बनाना था जिसमें Paytm, डेबिट व क्रेडिट कार्ड, और कैश ऑन डिलीवरी के विकल्प जुड़े हों। मैंने निर्धारित समय में असाइनमेंट पूरा कर दिया और मुझे इंटर्नशिप के लिए चुन लिया गया।

एक वेब डेवेलपमेंट इंटर्न के रूप में मैंने एक कंटेंट डेवेलपर्स प्रोडक्ट डिज़ाइनर्स की टीम के साथ वेबसाइट डिज़ाइन और डेवलपमेंट का काम किया। मैंने व्यूपोर्ट को रूपांतरित किया, मेन्यू को एडजस्ट किया, वेबसाइट को रिस्पॉन्सिव बनाया, और वेबसाइट में कस्टम बटन और अन्य कार्यक्षमताएं प्रदान करने के साथ-साथ विभिन्न डिवाइसों के लिए स्लाइडर को भी मैनेज किया। इंटर्नशिप के दौरान मेरे मैनेजर की समझ और सहायक प्रवृत्ति के कारण ही मैं सफलतापूर्वक कार्य कर पाया। इस वेबसाइट पर मैंने प्रतिदिन तीन घंटे काम किया और इंटर्नशिप कार्यकाल के समाप्त होने से पहले उस वेबसाइट को लाइव भी कर दिया।

Noora International में इंटर्नशिप करके मैंने वेबसाइट डिज़ाइनिंग के विभिन्न पहलुओं पर प्रैक्टिकल ज्ञान प्राप्त किया। इस इंटर्नशिप से प्राप्त किये कार्यानुभव और अनुशंसा पत्र के कारण बाद में मुझे Rooman Technologies कंपनी में एक वेब डेवलपर के रूप में नौकरी मिल गयी।

वर्तमान समय में मैं कम्पनी की “उड़ान परियोजना” पर काम कर रहा हूं, जहां मैं कम्पनी के सॉफ्टवेयर बैच को HTML, CSS, AngularJS, Bootstrap, jQuery, इत्यादि सिखाता हूं। इससे पहले, मैं कंपनी की ई.आर.पी. वेबसाइट को मेन्टेन करता था जिसके माध्यम से शिक्षक, विद्यार्थी, और कंपनी के कर्मचारी पाठ्यक्रम और परीक्षा मटीरियल पा सकते थे।

लेखक के बारे में: ज़ैनुल अबिदीन, गांदरबल के गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज का एक छात्र है। इस लेख में वह बता रहा है कि कैसे एक वर्चुअल इंटर्नशिप के ज़रिये उसने प्रैक्टिकल ज्ञान और कार्यानुभव प्राप्त किया, जो कि बाद में उसके लिए नौकरी पाने में भी अत्यंत सहायक रहा। यह लेख पहले इंटर्नशाला पर प्रकाशित हुआ है। इंटर्नशाला एक इंटर्नशिप और ट्रेनिंग प्लैटफॉर्म है।

हर हफ्ते Youth Ki Awaaz हिंदी की बेहतरीन स्टोरीज़ अपने मेल में पाने के लिए यहां सब्सक्राइब करें।

Similar Posts
Saurav in Education
August 13, 2018